3 दिन बढ़ेगी शीतलहर, जानिए इससे बचने के 7 खास उपाय

मौसम विभाग ने (Meteorological Department) अगले कुछ दिनों में भारी शीतलहर (cold wave) की चेतावनी दी है। मौसम विभाग ने यह कह दिया है कि अगले तीन दिनों तक उत्तर भारत के अधिकांश हिस्सों में घना कोहरा (dense fog) और शीतलहर का प्रकोप रहेगा। वहीं पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी की भी आशंका है। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं शीतलहर के कारण होने वाली परेशानी और उससे बचने के उपाय।

शीतलहर से होने वाली परेशानियां- शीतलहर के कारण सर्दी, जुकाम, फ्लू, नाक से पानी आना, नाक से खून आना जैसी परेशानी बढ़ सकती है। इसके अलावा हाथ-पैर में कंपकपी लग सकती है। इसके अलावा हाथ की उंगलियां सुन्न हो सकती है। 

शीतलहर से कैसे बचे- जहां तक संभव हो, बाहर न निकलें। अगर बाहर निकलना है तो पूरी तरह से शरीर को गर्म कपड़े से ढक लें। सबसे खासकर गला, कान, हाथ और पैर को पूरी तरह से ढके। बिना मास्क लगाए बाहर न निकलें।
* अगर सर्दी-जुकाम है तो गर्म पानी का सेवन, लैमन टी, ब्लैक टी आदि का सेवन करें। जुकाम-खांसी में एंटी वायरिक दवाइयों का सेवन न करें।
सर्दी में कम पानी पीते हैं, तो ऐसी गलती न करें बल्कि सर्दी में भी शरीर को पानी की जरूरत होती है। इसलिए पर्याप्त पानी पिएं।
सर्दी में विटामिन सी का सेवन बढ़ा दें। इम्यूनिटी बूस्ट करें क्योंकि इम्यूनिटी बूस्ट रहेगी तो ठंड का असर भी कम होगा।संतरा, नींबू, मौसमी, आंवला आदि का सेवन करें।
शीतलहर में स्किन को बचाने के लिए मॉइश्चर का इस्तेमाल करें। क्रीम, लोशन या तेल का इस्तेमाल करें।
शीतलहर से बचने के लिए अल्कोहल को ना करें।
शीतलहर के दौरान यदि आपके हाथ-पैर में ज्यादा ठंड लगती है तो इसे रगड़ने के बजाय गुनगुने पानी में रखें।

इन राज्यों को ठंड से कंपकंपा देंगे अगले 3 दिन, अलर्ट जारी

दिल्ली में बढ़ा ठंड का कहर, इतने डिग्री पंहुचा तापमान

संसद सत्र: भाजपा ने पार्टी सांसदों को घेरा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -