'औरंगज़ेब-अफजल गुरु की कब्रें ध्वस्त करे सरकार, वरना हम खुद करेंगे..', हिंदू महासभा की चेतवानी

'औरंगज़ेब-अफजल गुरु की कब्रें ध्वस्त करे सरकार, वरना हम खुद करेंगे..', हिंदू महासभा की चेतवानी
Share:

मुंबई: महाराष्ट्र के सातारा जिले के महाबलेश्वर में छत्रपति शिवाजी महाराज द्वारा बनवाए गए प्रतापगढ़ किले के नजदीक अफजल खान की कब्र मौजूद है. यह वही अफजल खान है, जिसे छत्रपति शिवाजी महाराज ने मौत के घाट उतारा था. इसी कब्र के आसपास अवैध निर्माण के खिलाफ आज (10 नवंबर, गुरुवार) सुबह से ही ध्वस्तीकरण की कार्रवाई शुरू की गई है. महाराष्ट्र की एकनाथ शिंदे सरकार के विन विभाग की तरफ से यह कार्रवाई की जा रही है. मगर, इसी दौरान हिंदू महासंघ के प्रमुख आनंद दवे ने मांग की है हिंदवी स्वराज के शत्रु रहे औरंगजेब और अफजल खान की कब्र को ध्वस्त कर दिया जाए. केवल आसपास के अवैध निर्माण के खिलाफ तोड़क कार्रवाई पर्याप्त नहीं है.

हिंदू महासभा के अध्यक्ष आनंद दवे ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, ‘बीते काफी समय से हम लोग अफजल खान की कब्र के पास से अतिक्रमण हटाने की मांग करते आ रहे हैं. कुछ आसामाजिक तत्वों द्वारा अफजल खान जैसे राक्षस को दैवत्व प्रदान करने का कार्य किया जा रहा था. औरंगजेब, अफजल खान ने छत्रपति शिवाजी महाराज को परेशान किया था. हिंदुओं को प्रताड़ित किया था. हिंदुओं की हत्या की, उनके मंदिर तोड़े गए थे. ऐसे में उनकी कब्र या मकबरे क्यों होने चाहिए? ‘

हिंदू महासंघ के अध्यक्ष आनंद दवे ने कहा कि, ‘जल्द से जल्द अफजल खान और औरंगजेब की इन कब्रों को नेस्तनाबूद करें. सरकार अगर यह नहीं कर सकती, तो हिंदू महासंघ खुद यह कार्य करेगा. स्वराज के दुश्मन का जो अंजाम होना चाहिए, वो दिखाई देना चाहिए. छत्रपति शिवाजी महाराज ने अफजल खान और अन्य लोगों के लिए कब्रों की जगहें दीं. मगर, उनके वंशजों और रिश्तेदारों ने हिंदुस्तान और हिंदुओं से प्यार नहीं किया. इस कारण मुझे लगता है कि इन कब्रों-मकबरों की यहां जगह नहीं है.’

सावधान! NGO की आड़ में हो रही आतंकियों की भर्ती, समाजसेवा के नाम पर मुस्लिमों में भरा जा रहा जहर

नंगे पैर 2 किमी पैदल चलकर भगवान जगन्नाथ के दर्शन करने पहुंची राष्ट्रपति मुर्मू, सामने आया Video

गौतम नवलखा एक महीने के लिए नज़रबंद, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई कई पाबंदियां

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -