बद्रीनाथ यात्रा पर बरसी खतरों की बारिश, तत्काल रोकी गई यात्रा

बद्रीनाथ चारधाम यात्रा पर एक बार फिर बारिश और तूफ़ान का संकट गहरा गया है. उत्तराखंड के चमोली डिस्ट्रिक्ट में भारी बारिश होने के कारण लामबगढ़ में पहाड़ से मलबा गिरने से प्रशासन को बदरीनाथ यात्रा को करीब साढ़े तीन घंटे तक रोक दिया . इस मौके पर यात्रियों को भी आगे जाने से सख़्त मना कर दिया गया. दोपहर में भारी बारिश के बाद लामबगढ़ में पहाड़ी से मलबा और बोल्डर गिरने का सिलसिला शुरू हो जाने से प्रशासन ने जोशीमठ और पांडुकेश्वर में यात्रियों की करीब तीन सौ गाड़ियों को वहीं रुकवा दिया. 

इसके अलावा टिहरी के नैनबाग में तूफान से एक पेड़ के बीच सड़क पर गिरने से यमुनोत्री जाने वालेयात्रियों को करीब डेढ़ घंटे तक वहीं फंसे रहना पड़ा. मौसम विभाग की दी हुई जानकारी के अनुसार रविवार दोपहर से बद्रीनाथ, केदारनाथ,गंगोत्री और यमुनोत्री धाम की ऊंची चोटियों में भारी बर्फबारी हुई है. साथ ही मौसम विभाग ने सोमवार को राज्य के सात जिलों में तूफान की चेतावनी दी है ये राज्य के देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, नैनीताल, यूएस नगर, पिथौरागढ़, चम्पावत जिलों के लिए तूफान आने की चेतावनी भी जारी की है.

मौसम के बदलते मिज़ाज़ को देखते हुए कुमाऊं क्षेत्र में देर रात से अगले 24 घंटों तक के लिए अलर्ट जारी किया गया है. साथ ही राज्य आपदा प्रबंधन लोगो की जानमाल की सुरक्षा के लिए कड़े प्रयास करने की तैयारियों में लगातार लगी हुई है.

टिहरी बस हादसा :ब्रेक फेल होने के कारण बारातियों से भरी बस पलटी, तीन बाराती घायल

इस वजह से थराली विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी प्रो.जीतराम है सबसे आगे

देहरादून में आयोजित होने वाला है पहला अंतरराष्ट्रीय टी-20 मुकाबला

उत्तरांचल में टेनिस ओपन सीरीज में प्रतिभाशालियों को मिला टेनिस का खिताब

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -