उत्तराखंड के अस्पताल में डॉक्टरों ने मोबाईल की रौशनी में ही कर डाली इतनी डिलिवरीयां

देहरादून : प्रदेश के सरकारी अस्पताल में प्रबंधन की लापरवाही थमने का नाम नहीं ले रही। दरसल एक और लापरवाही का मामला मंगलवार देर रात से बुधवार सुबह तक़रीबन दस बजे तक का है। जब बारिश के दौरान वहां बिजली बंद रही।

एक साथ देश के 143 मॉडल व प्रोफेशनल कालेजों का लोकार्पण करेंगे पीएम मोदी

ऐसे चलता रहा जान का खेल 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार डॉक्टरों ने मोमबत्ती और मोबाइल की रोशनी में कुल नौ डिलीवरी कराई। बताया जा रहा है कि अस्पताल के जनरेटर में तकनीकी खराबी आ गई थी। सभी जच्चा-बच्चा सुरक्षित हैं। बुधवार रात आठ बजे बिजली जाने के बाद जब अस्पताल में तैनात गार्ड जनरेटर चलाने के लिए गए तो तकनीकी खराबी के कारण जरनेटर नहीं चला। गार्ड ने महिला अस्पताल की सीएमएस को इसकी सूचना दी। उन्होंने इसकी सूचना दून मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय के एमएस डॉक्टर को दी। जिसके बाद उन्होंने इसकी सूचना सुपरवाइजर और तकनीशियन इंचार्ज को दी तो उन्होंने बारिश का हवाला देते हुए उसने वहां आने से इंकार कर दिया।

एक साथ देश के 143 मॉडल व प्रोफेशनल कालेजों का लोकार्पण करेंगे पीएम मोदी

बताया जा रहा है की महिला चिकित्सालय के लेबर रूम में भर्ती महिलाओं को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। बिजली न होने पर लेबर रूम में स्टाफ ने मोबाइल फोन और मोमबत्ती की रोशनी में डिलीवरी कराई। कुल 9 डिलीवरी इसी तरह कराई गई। जिसके बाद अस्पताल स्टाफ ने इस बात पर राहत महसूस की कि कम रोशनी के बावजूद भी सभी डिलीवरी सफल रहीं।

महीनों चले ट्रायल के बाद सैन्य विमानों को मिली बायो फ्यूल के उपयोग पर हरी झंडी

सुभाषचंद्र बोस के परिवार ने पीएम मोदी को दी यह खास भेंट, पीएम बोले शुक्रिया

इसरो ने अंतरिक्ष में सफलतापूर्वक स्थापित की एक और ख़ास सैटेलाइट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -