उत्तराखंड की राजधानी में पहली बारिश के पानी से पता चल जाती है सड़कों की हालत

देहरादून: शहर की सड़कों का हाल तो दिखाई दे देते है, लेकिन आउटर एरियाज में सड़कों के हाल स्थानीय लोगों से बेहतर कौन समझ सकता है। मेन रोड से सटे आउटर एरियाज में मानसून से पहले सड़कें पूरी तरह से जर्जर हो जाती है, जिससे सड़कों पर चलना बहुत ही परेशानी भरा हो जाता है। इतना ही नहीं सड़कों के बीचों बीच गड्ढे बन जाने से गाडि़यों के निकलने में बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, जिससे हादसे भी होते रहते हैं।

एक बारिश में ही खुल जाती है सड़क की पोल: जहां इस बात का पता चला है कि राजधानी की शहर से लेकर आउटर क्षेत्रों में सड़कों के हाल बहुत ही बदतर होते जा रहे है। मानसून आने से पहले सड़कों के हाल देखने और स्थानीय लोगों की परेशानियों को समझने के लिए मीडिया ने अभियान चलाकर लोगों की परेशानियों को प्रशासन के सामने लाने की योजना बनाई है। आज हम आपको बता रहे हैं कि सिटी से लगे आउटर इलाकों में भी सड़कों के हाल कितने बेहाल हैं।

गिरीश बहुगुणा, बंजारावाला: मिली जानकारी के अनुसार मेन रोड से हटे हुए क्षेत्र होनेकी वजह से यहां पर कई बार सड़कों को खोद कर छोड़ दिया जाता है। साथ ही जो सड़कें मरम्मत कि जैसी हो जाती है। उनकी भी महीनों तक मेंटिनेंस नहीं हो पाती है।

इस बार की TRP लिस्ट ने दिया बड़ा झटका, 'इंडियन आइडल 12' हो गया आउट

आने वाले 7 से 8 दिनों में जारी होगा वैक्सीन के तीसरे चरण का डेटा

यूपी से लेकर बिहार तक मानसून ने दी दस्तक, तेज हवाओं के साथ भरी वर्षा का लगाया गया अनुमान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -