लखीमपुर हिंसा: योगेंद्र यादव को क्यों किया गया निलंबित ? टिकैत बोले- हर बात बताने की नहीं होती

नई दिल्ली: यूपी के लखीमपुर खीरी में बीते दिनों हुई हिंसा में मारे गए भाजपा कार्यकर्ता शुभम मिश्रा के परिवार से मुलाक़ात करने की सजा के रूप में संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने स्वराज पार्टी के नेता योगेन्द्र यादव को एक माह के लिए निलंबित कर दिया है। अब योगेंद्र यादव के निलंबन पर किसान नेता राकेश टिकैत ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि वे एक महीने की छुट्टी पर हैं। साथ ही टिकैत ने ये भी कहा कि कुछ चीजें बताने के लिए नहीं होती हैं।

मीडिया से बातचीत के दौरान जब किसान नेता राकेश टिकैत से योगेंद्र यादव के निलंबन को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि योगेंद्र एक माह की छुट्टी पर हैं। इस पर जब पत्रकार ने कहा कि छुट्टी तो आप कह रहे हैं, मगर उन्हें तो निलंबित किया गया है। इसके जवाब में राकेश टिकैत ने  कहा कि सब चीजें बताने के लिए होती हैं क्या। काफी चीज़ें कहने की होती है और बहुत सी कहने की नहीं भी होती है। जो भी हुआ है वो सब की रजामंदी से हुआ है। 

इस दौरान जब राकेश टिकैत से सवाल किया गया कि सरकार तो आपकी बात नहीं मान रही है। तो उन्होंने कहा कि सरकार तो 11 महीने से नहीं मान रही है, सरकार थोड़ी सख्त है और बात नहीं मान रही है। इसके बाद जब उनसे कहा गया कि क्या आप लोग सरकार को मना नहीं पा रहे हैं, तो राकेश टिकैत ने जवाब देते हुए कहा कि हम तो 11 महीने से लगे हुए हैं। एक आध साल में मान जाएंगे, अभी तो अधिक समय भी नहीं हुआ है।

इस वर्ष लगभग 500,000 अफगानों को स्वास्थ्य सहायता प्राप्त हुई: रिपोर्ट्स

पेटीएम को 16,600 करोड़ रुपये के IPO के लिए सेबी की मिली मंजूरी

चंद्रबाबू नायडू ने की YSRCP शासन के खिलाफ सीधी लड़ाई की घोषणा की

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -