फिर बढ़ी अनिल देशमुख की मुसीबतें, ED ने तेज की कार्रवाई

मुंबई: 100 करोड़ की वसूली और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आरोपों में घिरे महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख की मुश्किलें दिन पर दिन बढ़ रही है। अब उनके ख़िलाफ़ प्रवर्तन निदेशालय ने अपनी कार्रवाई तेज कर दी है। जी दरअसल ईडी ने केंद्रीय अन्वेषण विभाग से अनिल देशमुख को ढूंढने के लिए मदद की मांग की है। मिली जानकारी के तहत ईडी द्वारा अनिल देशमुख को बार-बार समन भेजा जा रहा है लेकिन इसके बाद भी वह पूछताछ के लिए हाजिर नहीं हो रहे हैं।

इसी के चलते यह कार्रवाई की गई। आपको बता दें कि इससे पहले अनिल देशमुख के वकील आनंद डागा और सीबीआई निरीक्षक अभिषेक तिवारी को कोर्ट ने दो दिनों की सीबीआई कस्टडी सुनाई थी। वहीँ इन पर अनिल देशमुख के खिलाफ जांच की रिपोर्ट को लीक करने का आरोप लगा था। जी दरअसल उस लीक हुई रिपोर्ट के आधार पर अनिल देशमुख के निर्दोष साबित होने की खबर फैलाई गई थी। बीते हफ्ते ही सीबीआई ने इन दोनों को अरेस्ट किया था।

आपको बता दें कि तिवारी देशमुख के वकील डागा के संपर्क में थे और उन्हें सीबीआई की रिपोर्ट से जुड़ी जानकारियां लीक कर रहे थे। वहीँ अनिल देशमुख के बारे में बात करें तो उन्हें बार-बार समन भेजे जाने के बावजूद वह ईडी कार्यालय में पूछताछ के लिए हाजिर नहीं हो रहे हैं। इसी के चलते यह कहा जा रहा है कि अब ईडी और सीबीआई मिलकर राज्यभर में अलग-अलग ठिकानों पर देशमुख को खोजने के लिए छापेमारी करने वाली है। वहीँ ऐसा लग रहा है कि अब अनिल देशमुख की मुश्किलें अब और बढ़ने वाली हैं।

भोपाल: GMAT में देश में पहली और वर्ल्ड लेवल पर दूसरी रैंक हासिल कर इस लड़की ने रचा इतिहास

पेगासस केस: केंद्र पर भड़के CJI, बोले- आखिर कर क्या रही है सरकार

जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान ब्रेंडन टेलर ने किया सन्यास का ऐलान, इस दिन खेलेंगे अंतिम मुकाबला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -