भोपाल: GMAT में देश में पहली और वर्ल्ड लेवल पर दूसरी रैंक हासिल कर इस लड़की ने रचा इतिहास

भोपाल: मध्य प्रदेश की बेटी शिवांगी ने मैनेजमेंट टेस्ट में पूरे देश का नाम बुलंद कर दिया है। जी दरअसल भोपाल की रहने वाली शिवांगी गवांदे ने दुनिया में मैनेजमेंट के सबसे बड़े और सबसे मुश्किल टेस्ट ग्रेजुएट मैनेजमेंट एप्टीट्यूड टेस्ट(GMAT) में वर्ल्ड लेवल पर सेकंड रैंक और देश में फर्स्ट रैंक हासिल की है। जी हाँ, आपको हम यह भी बता दें कि ऐसा आज तक भारत में किसी ने नहीं किया है। अपने इस कारनामे से शिवांगी ने इतिहास में एक नया रच दिया है।

जी दरअसल इंग्लैंड इस परीक्षा को आयोजित करता है और शिवांगी ने GMAT में 800 में से 798 नंबर प्राप्त किए हैं। यह वाकई में एक बहुत बड़ा रिकॉर्ड है, क्योंकि देश में अब तक किसी भी परीक्षार्थी ने इस परीक्षा में इतने नंबर प्राप्त नहीं किए हैं। आपको हम यह भी बता दें कि इस साल GMAT 12 फरवरी को हुआ था और इसके फर्स्ट स्टेज का रिजल्ट 27 मार्च और फाइनल रिजल्ट 23 अप्रैल को आया था। शिवांगी के बारे में बात करें तो उनके पिता महेंद्र गवांदे पेशे से किसान हैं और खेती से जुडे व्यवसाय में ही करते हैं। वहीँ शिवांगी की मां माधुरी आनंद विहार स्कूल में मैथ्स की टीचर हैं।

अपनी बेटी की इस कामयाबी से माता-पिता दोनों ही बहुत खुश हैं। आपको हम यह भी बता दें कि GMAT के रिजल्ट के बाद दुनिया के टॉप मैनेजमेंट कॉलेजों ने शिवांगी का स्क्रीनिंग टेस्ट किया और ग्रुप डिस्कशन हुआ और इसका रिजल्ट 23 अगस्त को आया। इस रिजल्ट में शिवांगी को 100% नंबर मिले हैं। वहीँ इसके बाद कैंब्रिज,ऑक्सफोर्ड, हावर्ड, येल, स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी, लंदन बिजनेस ऑफ स्कूल और देश के सभी आईआईएम ने अपने यहां के एडमिशन सिलेक्शन लेटर भेजे हैं।

जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान ब्रेंडन टेलर ने किया सन्यास का ऐलान, इस दिन खेलेंगे अंतिम मुकाबला

'बुक लॉन्च विवाद' को लेकर टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री ने दिया चौंकाने वाला बयान

इंदौर: खजराना मंदिर में खुला गणेश संग्रहालय

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -