डोनाल्ड ट्रम्प का दावा, 'कोरोना से लड़ने में वरदान साबित हो सकती है ये मेडिसिन'

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि एंटीमलेरिया मेडिसीन, कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ने में भगवान का वरदान साबित हो सकती है। बता दें कि एंटीमलेरिया दवाओं के माध्यम से कोरोना वायरस के उपचार की अभी जांच ही चल रही है। वैज्ञानिकों का कहना है कि बिना जांच के इस दवा पर विश्वास करना खतरनाक हो सकता है। लेकिन ट्रंप की राय में एंटी मलेरिया दवा कोरोना वायरस के उपचार में भगवान का वरदान साबित हो सकता है।

डोनाल्ड ट्रंप ने बीते सप्ताह कहा था कि उनका प्रशासन हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन और क्लोरोक्वीन के कोराना वायरस के उपचार में जादुई असर की जांच कर रहा है। फ्रांस और चीन में हुए शुरुआती अध्ययन में कहा गया है कि कोरोना वायरस के इलाज में ये दवा असरदार रही है। हालांकि खुद ट्रंप प्रशासन के डॉक्टर उनकी इस बात से इत्तिफाक नहीं रखते हैं। अमेरिका के सबसे प्रसिद्ध संक्रमण रोग विशेषज्ञ डॉक्टर एंथनी फौसी ने कहा है बिना बहुत अधिक क्लीनिकल ट्रायल के इस दवा का कोरोना वायरस के उपचार में सावधानी बरतनी चाहिए।

उन्होंने आगे कहा कि अभी तक इस दवा के उपयोग पर बहुत कम रिसर्च हुआ है। हालाँकि, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को वॉइट हाउस में हुए प्रेस वार्ता में डॉक्टर एंथनी फौसी की सलाह को तवज्जो नहीं दी।

कोरोना वायरस के चलते सिख समुदाय ने बढ़ाया मदद का हाथ

कोरोना की बढ़ती मार को देख UN ने कही यह बात

संयुक्त राष्ट्र का बड़ा एलान, कहा- 'पूरी दुनिया में युद्ध रोके जाएं, कोविड-19 से मिलकर मुकाबला करें'

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -