मासूम बच्ची का रोना बर्दाश्त नहीं हुआ तो गला दबाकर हमेशा के लिए कर दी आवाज बंद

Jun 18 2019 04:37 PM
मासूम बच्ची का रोना बर्दाश्त नहीं हुआ तो गला दबाकर हमेशा के लिए कर दी आवाज बंद

काशीपुर : महिला को मासूम बच्ची का रोना बर्दाश्त नहीं हुआ तो उसने झुंझलाहट में बच्ची को छह-सात थप्पड़ जड़े इस पर मासूम और तेज से रोने लगी। इससे परेशान होकर उसने एक हाथ से बच्ची की नाक और मुंह बंद किया और दूसरे हाथ से गला दबाकर उसकी आवाज हमेशा के लिए बंद कर दी। यह बात खुद रुखसार ने पुलिस के सामने कबूल की है। पुलिस ने हत्या आरोपी मामी को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

महिला सैनिटरी पैड्स में छुपकर ले जा रही थी ऐसी चीज़ कि जाना पड़ा जेल

मानसिक रूप से बीमार है पत्नी 

जानकारी के मुताबिक मोहल्ला अल्ली खां निवासी शहनवाज उर्फ मूना और उसकी पत्नी तमन्ना के तीन बच्चे हैं। चार माह से तमन्ना मानसिक रूप से बीमार है। उसने अपने हाथों से अपनी चोटी काट ली थी। बदहवासी की हालत में वह घर में अक्सर तोड़फोड़ करती थी। परिवार के लोग उसे बदायूं के एक धर्मस्थल पर ले गए, जहां से वह गायब हो गई। ऐसे में मूना के समक्ष छोटे बच्चों की देखरेख की समस्या हो गई। ऐसे हालात में 7 वर्षीय बेटे को फूफी और तीन साल की मंझली बेटी को ताऊ ने अपने घर रख लिया। 

मंदिर गए दलित बच्चे संग दिखाई हैवानियत, पीटा और गर्म टाइल्स बैठाकर...

इस तरह दिया वारदात को अंजाम 

बताया जा रहा है की देर शाम वह घर पहुंचा तो पत्नी रुखसार ने बताया कि मरियम बेसुध पड़ी है। इस पर वह मरियम को लेकर अस्पताल पहुंचा तो डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। शक होने पर मरियम का पोस्टमार्टम कराया गया। रिपोर्ट में मासूम की मौत का कारण गला घोंटने और मुंह बंद करने से सांस रुकने के कारण होना बताया गया। उसके चेहरे पर खरोंच के छह-सात निशान भी पाए गए। मृतका के पिता की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी मामी को गिरफ्तार कर लिया है। 

एक बार फिर महिला की आबरू हुई तार-तार, जांच में जुटी पुलिस

प्रेमिका ने दिया धोखा तो प्रेमी ने दे डाली सिद्धिविनायक मंदिर को उड़ाने की धमकी

पबजी गेम से सीखा गोली चलना और लूट ली सराफा व्यापारी की दूकान