इन राज्यों में खत्म हो रही है तीसरी लहर, तेजी से कम हो रहे मामले

भारत में इस समय कोरोना वायरस (Covid-19) की तीसरी लहर का असर देखने के लिए मिल रहा है। जी हाँ और इसके चलते देश में हर दिन तीन लाख से ज्‍यादा मामले सामने आ रहे हैं। आप सभी को बता दें कि कोरोना ने अब तक कई प्रमुख शहरों के लोगों को अपना श‍िकार बनाया है, हालाँकि एक अच्‍छी बात यह है कि देश के कुछ बड़े शहरों में कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave) का पीक आ चुका है। जी हाँ और इसका असर यह हो रहा है क‍ि अब यहां तेजी से केस घट रहे हैं। इस लिस्ट में द‍िल्‍ली, मुंबई (Delhi), कोलकाता और चेन्‍नई शामिल हैं। इसी के साथ बीते सात द‍िन के आंकड़े देखे जाएं तो बेंगलुरु, पुणे, अहमदाबाद और हैदराबाद में अब भी केस बढ़ रहे हैं, जो कि चिंता का व‍िषय है।

जी दरअसल बेंगलुरु और अहमदाबाद में प‍िछले दो दिन से दैनिक मामलों में गिरावट दर्ज की गई है। आपको बता दें कि इन सभी आठ शहरों के कोविड आंकड़ों से जो बड़ी तस्वीर न‍िकलकर सामने आई है, वह यह है कि सबसे बड़े शहरी केंद्र अब देश के दैनिक संक्रमणों में कम योगदान दे रहे हैं। वहीं राष्ट्रीय मामलों के सात दिनों के औसत के अभी भी बढ़ने के साथ महामारी अब छोटे शहरों और ग्रामीण इलाकों में फैलती दिख रही है। सामने आने वाले आंकड़ों के अनुसार, मौजूदा लहर के दौरान बेंगलुरु सबसे ज्यादा प्रभावित शहर रहा है। इस राज्‍य ने सर्वाधिक पीक दर्ज किया है। आपको बता दें कि शहर ने 16 दिसंबर से अब तक 3 लाख मामले दर्ज किए हैं, जो केवल दिल्ली के कुल 3.4 लाख से थोड़े ही पीछे हैं।

वहीं मुंबई पहला शहर था जहां महामारी चरम पर थी। जी दरअसल यहां सात दिन का औसत 12 जनवरी को गिरने से पहले बढ़कर 17,465 हो गया। वहीं कोलकाता अगले स्थान पर था, जिसने 13 जनवरी को 7,069 के चार सबसे बड़े महानगरों में सबसे निचले पीक की सूचना दी। इसके अलावा दिल्ली में बीते शन‍िवार को कोरोना संक्रमण के 11486 न‌ए मामले सामने आए हैं, वहीं 45 मरीजों की मौत हुई है। जी दरअसल राजधानी में फिलहाल कोरोना संक्रमण दर घटकर 16.36 फीसदी हो गई है। हालाँकि इस बीच सबसे अच्छी और राहत भरी बात यह है कि पिछले चौबीस घंटों में 14802 लोग संक्रमण से ठीक हुए हैं।

कोरोना संक्रमित पाए गए पूर्व सीएम एच डी देवगौड़ा, अस्पताल में हुए भर्ती

कोरोना: अलीगढ़ में बोले सीएम योगी- जीवन और जीविका को बचाने के लिए हरसंभव कोशिशें जारी

रैली-रोड शो पर से नहीं हटेगा प्रतिबंध, कोरोना को लेकर रिस्क नहीं लेना चाहता चुनाव आयोग

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -