कोरोना का बढ़ा खौफ मिड डे मील से घरों तक राशन पहुंचना हुआ मुश्किल

कोरोना का बढ़ा खौफ मिड डे मील से घरों तक राशन पहुंचना हुआ मुश्किल

चंडीगढ़: दिनों दिन अपने पांव पसारता जा रहा कोरोना वायरस आज हजारों लोगों की जान का दुश्मन बन बैठा है. वहीं हर रोज इस वायरस से मरने वालों कि संख्या बढ़ती ही जा रही है. वहीं अब तक इस वायरस की चपेट में आने से 18000 से अधिक मौतें हो चुकी है. और वहीं हरियाणा में स्कूली बच्चों को मिड डे मील के राशन का वितरण टेढ़ी खीर साबित हो रहा है. जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी पहली से आठवीं कक्षा के बच्चों को घर पर राशन पहुंचाने में असमर्थ हैं. चूंकि, शिक्षकों ने बच्चों के घर जाकर राशन सामग्री देने से मना कर दिया है.

मिली जानकारी एक अनुसार इस बात का पात चला है कि शिक्षा निदेशालय ने इसे देखते हुए अब सभी जिलों के डीसी से राशन वितरित करवाने के लिए मदद मांगी है. मौलिक शिक्षा निदेशक कार्यालय ने डीसी से मैनपावर मुहैया कराने को कहा है ताकि बच्चों के घर पर राशन व राशि पहुंचाई जा सके. निदेशालय ने अपने पत्र में राशन वितरण को लेकर सुप्रीम कोर्ट की ओर से दिए फैसले का भी हवाला दिया है.

जंहा यह भी कहा जा रहा है कि साथ ही कहा है कि हर दिन बहुत महत्वपूर्ण है. कोरोना के चलते धारा-144 व बंद लागू है. इसलिए स्कूली बच्चों को छुट्टियों के दौरान घर पर राशन व कुकिंग राशि मुहैया करानी है. मुख्यमंत्री भी इसके निर्देश दे चुके हैं. डीईईओ कार्यालयों को सामग्री पहुंचाने में कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है. 

सऊदी अरब में कोरोना से पहली मौत, 300 से अधिक संक्रमित

ऐसे बीत रहा है जेनिफर विंगेट का दिन

कोरोना: पाक के 7 मौतों में मचा हाहाकार, संक्रमित लोगों की संख्या एक हज़ार