इंदौर से लगे ग्रामीण इलाकों में कोरोना ने दी दस्तक, बढ़ी संक्रमितों की संख्या

इंदौर: मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी में कोरोना का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है. इंदौर के नए-नए इलाकों में संकम्रण तेजी से फैलता जा रहा है. वहीं अनलॉक-2 में कोरोना संक्रमण इंदौर से लगे ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से फैलता जा रहा है. मंगलवार को हातोद के एक ही कॉलोनी में 27 नए पॉजिटिव मरीज मिले है. एक साथ इतने सारे संक्रमित मिलने के बाद एसडीएम डॉ. रजनीश श्रीवास्तव ने अगले आदेश तक पूरे गांव में लॉकडाउन लगाने का आदेश दे दिया है. वहीं प्रशासन को यहां सब्जी मंडी से कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका लगा रही है.

इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने इस इलाके में सर्वे और सैंपलिंग शुरू कर दी है. दूसरी तरफ रालामंडल के खटीक मोहल्ला को बड़ी संख्या में मरीज मिलने के बाद से सील कर दिया गया है. विगत दिनों से महू, सांवेर, देपालपुर के ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना के मरीज सामने आ रहे है. इस संबंध में कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग इंचार्ज डॉ. अनिल डोंगरे कहते हैं कि अनलॉक होने से हो सकता है कि कोई व्यक्ति संक्रमण लेकर गांव में आ गया हो.  

बता दें की इंदौर में 44 नए मरीज मिले, जबकि 3 जान चली गई. मंगलवार को नए इलाकों में मरीज मिले है. इनमें शिवधाम कॉलोनी, नंदबाग, ब्रजेश्वरी एनएक्स, ईश्वर नगर, दामोदर नगर, कनाड़, ग्राम करादिया, श्रीखंडी नगर, किशनगंज जैसे इलाके शामिल हैं. वहीं रालामंडल को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर दिया गया है. इसके अलावा खजराना मंदिर स्थित अन्नक्षेत्र के एक कर्मचारी के सोमवार को कोरोना पॉजिटिव आने के बाद से प्रशासन ने अन्नक्षेत्र को बंद करा दिया गया है. दरअसल यहां से भोजन कुछ अस्पतालों में भेजा जाता है. इसलिए वहां के कॉन्टैक्ट को खगाला जा रहा है.

ग्वालियर-चंबल अंचल में कोरोना विस्फोट, एक दिन में मिले 210 पॉजिटिव

शिवराज पर कमलनाथ का तंज़, कहा- जनता जानती है, कौन टाइगर है और कौन बिल्ली

दिल्ली से बेरंग लौटे शिवराज, नहीं हो पाया विभागों का बंटवारा, हमलावर हुआ विपक्ष

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -