'ख़बरदार, अगर गहलोत को कुछ बोला तो..' ? उदयपुर हत्याकांड पर सवाल उठाए तो कांग्रेस ने अपने ही नेता को फटकारा

जयपुर: उदयपुर में बुधवार को एक हिन्दू टेलर की निर्मम हत्या को लेकर की जा रही राज्य की अशोक गहलोत सरकार की आलोचना कांग्रेस को रास नहीं आ रही है। गांधी परिवार के करीबी माने जाने वाले गहलोत की आलोचना करने पर कांग्रेस ने अपने ही नेता को फटकार लगाई है। दरअसल, कन्हैयालाल की हत्या को लेकर गहलोत सरकार की कार्रवाई पर सवाल खड़े करने वाली टिप्पणी के लिए अपने नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम को जमकर लताड़ लगाई है। 

कांग्रेस ने कहा है कि उनकी टिप्पणी तथ्यों से रहित है, उन्हें ‘‘लक्ष्मण रेखा’’ पार करने से पहले कम से कम एक बार इस बारे में विचार करना चाहिए था। गौरतलब है कि राजस्थान के उदयपुर में दो लोगों ने दर्ज़ी कन्हैया लाल को बेरहमी से मार डाला था और एक वीडियो में गुनाह कबूल करते हुए कहा कि वे 'इस्लाम के अपमान' का बदला ले रहे हैं। कृष्णम ने एक ट्वीट में गहलोत सरकार की कार्रवाई पर सवाल खड़े करते हुए सवाल किया कि धमकी मिलने के बाद भी कन्हैया को सुरक्षा उपलब्ध क्यों नहीं कराई गई और आरोप लगाया कि हत्यारों के साथ ही पुलिस और प्रशासन भी समान रूप से जिम्मेदार है।

उन्होंने पूछा कि, 'SSP, DIG के विरुद्ध अब तक कार्रवाई क्यों नहीं की गई।' कृष्णम ने यह भी पूछा कि क्या राजस्थान में कांग्रेस सरकार का इकबाल पूरी तरह से ख़त्म हो चुका है। कृष्णम को निशाने पर लेते हुए, कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव जयराम रमेश ने उनसे ट्विटर पर कहा कि उन्हें दूसरी बार 'लक्ष्मण रेखा' पार करने से पहले कम से कम एक बार इस संबंध में विचार करना चाहिए था। 

उद्धव का इस्तीफा.., ढाई साल सत्ता चलाने के बाद राउत बोले- शिवसेना सत्ता के लिए नहीं जन्मी

'मदरसों में पढ़ाया जाता है सिर कलम करना ..', उदयपुर की वीभत्स घटना पर बोले मोहम्मद आरिफ खान

'तुम काफिरों को अंजाम तक पहुंचाएंगे..', कन्हैयालाल के बाद और कितने हिन्दुओं को मारना चाहते थे कट्टरपंथी ?

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -