उड्डयन मंत्री सिंधिया ने पहली डिब्रूगढ़-शिलांग सीधी उड़ान को दिखाई हरी झंडी

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को केंद्र की क्षेत्रीय संपर्क योजना-उड़े देश का आम नागरिक (आरसीएस-उड़ान) के तहत शिलांग-डिब्रूगढ़ मार्ग पर पहली सीधी उड़ान को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। लॉन्च पर टिप्पणी करते हुए उड्डयन मंत्री ने कहा कि शिलांग, 'दुनिया के सबसे ऊंचे और सबसे गीले स्थानों में से एक, न केवल देश के लिए बल्कि पूरी दुनिया के लिए महत्वपूर्ण है' यह ध्यान में रखते हुए कि शिलांग को 'पूर्व का स्कॉटलैंड' के रूप में जाना जाता है। 

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आगे कहा, ''ऐसा कुछ भी नहीं है जो मेघालय के पास न हो। यह जगह दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करती है। '' यह बताते हुए कि 2014 में पूर्वोत्तर में केवल छह हवाई अड्डे चालू थे, उन्होंने आगे कहा कि यह संख्या अब बढ़कर 15 हो गई है। सिंधिया ने कहा कि ''सात की छोटी अवधि के भीतर वर्षों से हमने इस महत्वाकांक्षी लक्ष्य को हासिल कर लिया है। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि यह अभी शुरुआत है। हम पूर्वोत्तर में अंतरराज्यीय और अंतर्राज्यीय संपर्क बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार अंतिम छोर तक डिलीवरी के लिए हेलीकॉप्टर सेवाओं के साथ-साथ बुनियादी ढांचा क्षमताओं को विकसित करने पर भी ध्यान केंद्रित कर रही है, सिंधिया ने कहा। ''हमने हाल ही में पूर्वोत्तर में हेली सेवाओं को और बढ़ावा देने के लिए एक हेलीकॉप्टर नीति शुरू की है। हम चाहते हैं कि पूरे देश से यात्री पूर्वोत्तर की यात्रा करें, '' उन्होंने कहा कि मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड के संगमा, शिलांग के सांसद विन्सेंट एच पाला इस कार्यक्रम में शामिल होने वालों में शामिल थे।

ज्योतिरादित्य सिंधिया का झाड़ू लगाते हुए वीडियो वायरल, लोग बोले- फर्जी एक्टिंग

बेकाबू होकर पानी भरे गड्ढे में गिरी स्कूल वैन, 11 बच्चे थे सवार

मुश्किल में फंसी अनन्या पांडे का सहारा बने बॉयफ्रेंड ईशान खट्टर!

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -