बिहार आने वाले मजदूरों को 21 दिन रखा जाएगा क्वारंटाइन, सरकार ने शुरू की तैयारियां

पटना: बिहार सरकार के जल संसाधन मंत्री संजय झा ने अन्य राज्यों में फंसे हुए मजदूरों को लेकर मीडिया से बातचीत की. जदयू नेता संजय झा ने कहा कि कई प्रदेशों में प्रवासी हैं, सबसे अधिक ध्यान उन्हीं पर है कि कैसे सुरक्षित वापस लाया जाए. केंद्र सरकार से स्पेशल ट्रेन चलाने की मांग की गई है. यदि ऐसा होता है तो ये अधिक सुरक्षित रहेगा.

उन्होंने कहा कि प्रत्येक ब्लॉक में क्वारंटाइन सेंटर बन रहा है. इसके लिए 1200 क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए है. 1 सेंटर में 800 से हजार लोग रहेंगे, उनके खाने और रहने का पूरा बंदोबस्त किया गया है. यदि किसी के भीतर लक्षण दिखेंगे तो उन्हें आइसोलेट कर के रखा जाएगा. जो भी मजदूर आएंगे उन्हें 21 दिन तक क्वारंटाइन सेंटर में रखा जाएगा.  संजय झा ने कहा कि बिहार के बाहर 28 लाख से अधिक लोग फंसे हुए हैं. लगभग दो लाख लोगों को क्वारंटाइन सेंटर में रहने का इंतज़ाम किया गया है. यह एक बहुत बड़ी चुनौती है. सीएम नीतीश कुमार दिन रात इसकी समीक्षा कर रहे हैं.

बिहार सरकार में मंत्री संजय झा ने कहा कि जो लोग चोरी-छुपे राज्य में दाखिल हो रहे हैं, वो सबसे बड़ा खतरा साथ ला रहे हैं. लोगों से अपील है कि यदि कोई गांव में चोरी छुपे आता है तो प्रशासन को उसकी जानकारी दें. ऐसे लोग सबके लिए खतरा बन सकते हैं. आवश्यकता पड़ने पर कार्रवाई भी की जाएगी.

90 प्रतिशत तक सस्ती मिलेंगी दवाएं, बस करें इस शासकीय एप का इस्तेमाल

लॉकडाउन में आम आदमी को मिली बड़ी राहत, गैस सिलेंडर के दामों में आई भारी गिरावट

सोने पर भी पड़ी कोरोना की मार, 11 साल के निचले स्तर पर पहुंची गोल्ड की डिमांड

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -