अयोध्‍या: मुस्लिम पक्ष करेगा 4 पुनर्विचार याचिकाएं दायर, जुमे की नमाज के बाद...

अयोध्‍या: मुस्लिम पक्ष करेगा 4 पुनर्विचार याचिकाएं दायर, जुमे की नमाज के बाद...

आज चार अलग-अलग पुनर्विचार याचिकाएं अयोध्‍या केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ दाखिल की जाएंगी. आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने इन याचिकाओं का समर्थन किया है. मुस्लिम पक्षकारों की तरफ से मिसबाहुद्दीन, मौलाना हसबुल्‍लाह, हाजी महबूब और रिजवान अहमद पुनर्विचार याचिकाएं दाखिल करेंगे. वरिष्‍ठ वकील राजीव धवन कोर्ट में इन याचिकाओं की पैरवी करेंगे. कहा जा रहा है कि जुमे की नमाज के बाद इन याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया जाएगा. इसके साथ ही मुस्लिम पक्षकारों को 5 एकड़ जमीन दिए जाने के खिलाफ हिंदू महासभा भी पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगी. इसके साथ ही हिंदू पक्षकारों पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी को लेकर विचार करने को कहेगी.

हैदराबाद कांड: उमा भारती ने दिया धमाकेदार बयान, कहा-उस बहन की आत्मा को...

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इससे पहले सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या केसमें सुनाए गए फैसले के खिलाफ सोमवार को जमीयत-उलेमा-ए-हिंद ने रिव्यू पिटिशन दाखिल कर दी है. जमीयत-उलेमा-हिंद से जुड़े असद रशीदी की तरफ से 217 पन्नों की याचिका दायर की गई है. याचिका में कहा गया है कि कोर्ट ने माना कि वहां नमाज होती थी फिर भी मुसलमानों को बाहर कर दिया. इसके साथ ही कहा गया है कि 1949 में अवैध तरीके से इमारत में मूर्ति रखी गई. फिर भी रामलला को पूरी जगह दी गई.

मायावती को बड़ा झटका, पूर्व मंत्री समेत दो बसपा नेता भाजपा में शामिल

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि अब रिव्यू पिटिशन को लेकर प्रतिक्रियाएं भी सामने आने लगी हैं. गौरतलब है कि अयोध्या फैसले को लेकर जमीयत उलेमा-ए-हिंद के सदस्यों के बीच काफी मतभेद नजर आ रहे थे. जहां कुछ सदस्यों का मानना था कि अयोध्या फैसले के खिलाफ अब सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर नहीं की जानी चाहिए. वहीं, कुछ का कहना था कि याचिका दाखिल करना उनका हक है.

योगी सरकार ने बदला नौगढ़ रेलवे स्टेशन का नाम, ये है नया नाम

INX मीडिया मामले में बेल पर छूटे चिदंबरम, कहा- मेरे जमानत आदेश को पढ़ लें भाजपा नेता...

अधीर रंजन पर स्‍मृति का निशाना, कहा- आप यहां आज चीख रहे हैं इसका मतलब...