आंध्र प्रदेश विधानसभा : 10 साल बाद सपना पूरा, मोहन रेड्डी की पार्टी को प्रचंड बहुमत

आंध्र प्रदेश विधानसभा : 10 साल बाद सपना पूरा, मोहन रेड्डी की पार्टी को प्रचंड बहुमत

नई दिल्ली : आंध्र प्रदेश में 46 साल के जगन मोहन रेड्डी का जादू मतदाताओं के सिर चढ़ कर बोलता हुआ नजर आया है. वहीं रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस पार्टी को विधानसभा के चुनाव में यहां पर भारी बहुमत मिलने के साथ उनका मुख्यमंत्री बनना तय हो चुका है. वहीं रेड्डी की पार्टी ने ना सिर्फ विधानसभा बल्कि लोकसभा चुनाव में भी बेहद दमदार प्रदर्शन किया है और इसमें दिलचस्प बात यह है कि रेड्डी ने ये चुनाव किसी भी गठबंधन के साथ मिलकर नहीं बल्कि अपने बूते खुद लड़ा था. 

आपको जानकारी के लिए बता दें कि आंध्र प्रदेश से विधानसभा की 175 और लोकसभा की 25 सीटे हैं. वहीं रिपोर्ट लिखे जाने तक आंध्र विधानसभा चुनाव में 175 सीटों में से 151 पर वाईएसआर कांग्रेस और 24 पर तेलुगु देशम (टीडीपी) आगे चल रही थी. यहां पर 25 लोकसभा सीटों में भी 23 पर वाईएसआर कांग्रेस के उम्मीदवार बढ़त बनाकर चल रहे हैं, सिर्फ 2 सीट पर ही टीडीपी उम्मीदवार आगे चल रहे है.

तेलुगु देशम पार्टी के नेता चंद्रबाबू नायडू ने 2014 विधानसभा एनडीए के सहयोगी के रूप में जीता था और उस वक्त उन्हें अभिनेता से नेता बने पवन कल्याण की पार्टी जनसेना का भी भारी समर्थन हासिल था. हालांकि 2019 तक आते-आते स्थितियां बदल सी गईं. किसी वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थक रहे नायडू 2018 में एनडीए से बाहर हो गई थे और इसका खामियाजा उन्हें अब भुगतना पड़ा.

 

रूझानों के बीच दिग्गजों के बयान, जानिए क्या बोले-ममता, थरूर और कन्हैया कुमार

लोकसभा चुनाव 2019 : MP में कांग्रेस की साख दांव पर, सिंधिया-दिग्विजय जैसे दिग्गज हार की ओर

लोकसभा चुनाव 2019 : भाजपा के भागीरथ ने दर्ज की रिकॉर्ड जीत, कांग्रेस बुरी तरह पस्त

भाजपा की जीत पर बोला यह अभिनेता, मोदी और शाह है राजनीति के बाप, अब कभी भी...'