ओवैसी का अमित शाह से सवाल, मॉब लिंचिंग पर कानून क्यों नहीं बनाते सर ?

ओवैसी का अमित शाह से सवाल, मॉब लिंचिंग पर कानून क्यों नहीं बनाते सर ?

नई दिल्ली: देशभर में हो रही मॉब लिंचिंग की घटनाओं को लेकर आज लोकसभा में हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से सवाल किया. ओवैसी ने कहा कि, 'मैं गृह मंत्री से पूछना चाहता हूं कि गत वर्ष सर्वोच्च न्यायालय ने कहा था की मॉब लिंचिंग पर कानून बनाएं. आप क्यों नहीं बनाते हो कानून? आज बिहार में मॉब लिंचिंग हुई है. तबरेज़ अंसारी को मार डाला गया. 

ओवैसी ने आगे कहा कि आज मुल्क में मुसलमानों के विरुद्ध कितनी नफरत है. मॉब लिंचिंग के खिलाफ कानून बनाया जाए सर, जो लोग खड़े हो चुके हैं. आपको किसी न किसी आर्गेनाईजेशन को प्रतिबंधित करना पड़ेगा.' वहीं दूसरी ओर कन्नड़ के थिएटर कलाकार और गीतकार एस. रघुनंदन द्वारा संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार लेने से इंकार करने पर भारत के कई विख्यात लेखकों ने उनका समर्थन किया है. मंगलवार को पुरस्कार के ऐलान के बाद बंगलुरू के कलाकार ने एक बयान जारी कर मॉब लिंचिंग और ईश्वर एवं धर्म के नाम पर हिंसा का हवाला देकर इसके लिए मौजूदा ताकतों को प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से जिम्मेदार करार दिया.

लेखकों के. सच्चिदानंदन, केकी दारूवाला, गणेष देवी, अशोक वाजपेयी, नयनतारा सहगल और गीता हरिहरन ने इस विरोध प्रदर्शन कि सराहना करते हुए बयान जारी किया है. लेखकों ने भारतीय लेखक मंच की तरफ से जारी किए गए बयान में कहा कि, "लेखक और कलाकार 2015 से ही भारत की वर्तमान सरकार द्वारा फैलाई जा रही असहिष्णुता और घृणा की संस्कृति के विरुद्ध प्रदर्शन कर रहे हैं. विरोध का यह सिलसिला जारी है."

गेस्ट हाउस में फिर धरने पर बैठी प्रियंका वाड्रा, सोनभद्र जाने की जिद पर अड़ी

विधानसभा चुनाव को लेकर झारखण्ड में सियासत गर्म, भाजपा-झामुमो सदस्यता अभियान में जुटी

सोनभद्र नरसंहार: पीड़ितों से मिलने जा रही थी प्रियंका, यूपी पुलिस ने हिरासत में लिया