ड्राइविंग क्षमता को 12 घंटे तक प्रभावित करता है ये नशीला पदार्थों

ड्राइविंग क्षमता को 12 घंटे तक प्रभावित करता है ये नशीला पदार्थों

नशीले पदार्थों का सेवन हमेशा स्वास्थ के लिए हानिकारक होती है. बता दे कि गांजा जैसे नशीले पदार्थों के सेवन ड्राइविंग क्षमता को प्रभावित करता है. यह जानकारी शोध में दी गई है. ड्रग एंड एल्‍कोहल डिपेंडेंस नामक जर्नल में प्रकाशित एक शोध के अनुसार, नशीले पदार्थ के सेवन के 12 घंटे बीत गए हों फिर भी इसका असर बना रहता है.

दिल दहला देगा इस जगह का इतिहास, हजारों लोगों पर मंडरा रहा है जान का खतरा

इस मामले को लेकर हुई रिसर्च के अनुसार, यदि भांग-गांजा का सेवन न करने वालों से तुलना की जाए तो नशे की लत के शिकार लोगों की ड्राइविंग क्षमता बिल्‍कुल खराब होती है. हालांकि ड्राइविंग पर नशे के असर मामले में काफी शोध किए गए हैं.बोस्‍टन के कुछ लोगों के एक समूह ने सलाह दी कि गांजा (Marijuana) का इस्‍तेमाल 12 घंटे बाद भी अपना असर बनाए रखता है और ड्राइविंग क्षमता को प्रभावित करता है. मैकलियन हास्‍पीटल ने एक अध्‍ययन कराया जिसे ड्रग एंड एल्‍कोहल डिपेंडेंस में प्रकाशित किया गया है.

भीषण हादसा: रासायनिक संयंत्र में हुआ भयंकर विस्फोट, वीडियो हुआ वायरल

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इस रिसर्च के तहत गांजा का सेवन करने वाले और इसका सेवन करने वाले यूजर्स को रखा गया. इसका सेवन करने वालों को दो ग्रुप में विभाजित किया गया. यह विभाजन उनके इस्‍तेमाल की शुरुआत को लेकर हुआ कि वे 16 वर्ष से पहले इसका सेवन करने लगे थे या बाद में. कोलोराडो यातायात विभाग के ट्रैफिक सेफ्टी कम्‍युनिकेशन मैनेजर सैम कोल ने कहा, ‘हम जानना चाहते हैं कि ये गांजा के नशे में ड्राइविंग क्‍यों करते हैं और हम इसे रोकने के लिए क्‍या कर सकते हैं.’

चीन ने बनाया दुनिया का सबसे बड़ा रेडियो टेलीस्कोप, जिसे अंतरिक्ष की आंख बोला जा रहा है

डि रोसी ने की फुटबाल से संन्यास लेने की घोषणा, कहा- 'मुझे घर जाना...'Good Newwz Box Office :

महज़ 18 दिनों में 300 करोड़ के पार पहुंची अक्षय की गुड न्यूज़, वर्ल्डवाइड मचा तहलका