यूपी: जमीनी स्तर पर भी ब्राह्मणों को भरपूर हिस्सा देगी बहुजन समाज पार्टी

यूपी: जमीनी स्तर पर भी ब्राह्मणों को भरपूर हिस्सा देगी बहुजन समाज पार्टी

लखनऊ: देश के सबसे बड़े राज्य यूपी में बीते कुछ दिनों से सियासी हलचल बेहद तेज हो गई है. वही इस बीच बसपा के मूल संगठन में प्रथम बार मंडल स्तर पर ब्राह्मणों को भागेदारी देने के पश्चात् अब जमीनी स्तर पर जिला, सेक्टर एवं बूथ संगठन में जिम्मेदारी दी जाएगी. पार्टी ने अपरकास्ट को यह आश्वस्त करना आरम्भ कर दिया है कि बहुजन समाज पार्टी 2022 के विधानसभा इलेक्शन में टिकट तथा सत्ता में आने पर सरकार में भी भरपूर भागेदारी भी देगी.

विशेषज्ञ बताते हैं कि बहुजन समाज पार्टी अब तक ब्राह्मणों एवं अपरकास्ट की अन्य समाजों को भाईचारा संगठन के माध्यम से जोड़ने का काम करती रही है. 2007 के विधानसभा इलेक्शन से पूर्व का यह उपयोग कारगर सिद्ध हुआ था, किन्तु तब से अब तक राजनीतिक एवं सामाजिक परिस्थितियों में बेहद भिन्नता आई है.

साथ ही बड़ी संख्या में पार्टी के शक्तिशाली चेहरे या तो पार्टी छोड़ गए या निकाल दिए गए. कई प्रयासों के बाद भी पार्टी 2007 के पश्चात् के चुनावों में आशा के अनुसार सफलता प्राप्त नहीं कर पाई है. बहुजन समाज पार्टी के एक सीनियर पदाधिकारी कहते हैं कि पार्टी ने 2022 के विधानसभा इलेक्शन के मद्देनजर अपनी रणनीति में व्यापक परिवर्तन किया है. वही जनाधार विस्तार में अपरकास्ट को जोड़ने के अभियान को 2007 से भी आगे जाकर बढ़ाने की पहल की है. वह बताते हैं कि पहले पार्टी के मूल संगठन में मंडल स्तर पर ब्राह्मणों व अपरकास्ट के अन्य लोगों को भागेदारी दी गई. फिर सत्ता में आने पर प्रभु परशुराम की भव्य प्रतिमा लगाने, हॉस्पिटल, कम्युनिटी केंद्र उनके नाम पर बनवाने की घोषणा की गई है. इसी प्रकार दूसरी जातियों के संतों, महापुरुषों को पूरा सम्मान देने की बात कही गई. वही ये भागेदारी प्रथम बार होने वाली है.

नेपाल : सिंधुपालचोक में खिसकी जमीन, कई लोग हुए लापता

यूपी: बाहुबली विधायक विजय मिश्रा मध्य प्रदेश में हुए गिरफ्तार

ब्राजील में कोरोना मचा रहा हाहाकार, बढ़ा संक्रमण का आंकड़ा