'गैंग्स ऑफ साहिबगंज' नाम से बनेगी फिल्म', इस नेता का आया बड़ा बयान

रांची: झारखंड के साहिबगंज समेत संताल परगना के अन्य जिलों से जुड़े खनन घोटाला मामले में भाजपा विधायक दल के नेता एवं राज्य के प्रथम सीएम बाबूलाल मरांडी ने हेमंत सरकार पर फिर निशाना साधा है। बाबूलाल मरांडी ने कहा कि साहिबगंज में जिस तरह का कारनामा किया गया है। वो दिन दूर नहीं जब कोई गैंग्स ऑफ साहिबगंज नाम की फिल्म बना देगा। 

बाबूलाल मरांडी ने साहिबगंज के उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक पर भी मुख्यमंत्री हेमंत के विधायक प्रतिनिधि पकंज मिश्रा के इशारे पर काम करने का इल्जाम लगाया है। ट्विटर पर बाबूलाल मरांडी ने लिखा है कि कोरोना महामारी का प्रकोप कम होने पर वे साहिबगंज गए थे। वहां उनसे मुलाकात करने वाले लोगों ने बताया था कि साहिबगंज के एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा एवं उपायुक्त रामनिवास यादव पंकज मिश्रा के संकेत पर काम करते हैं। लोगों ने ये भी बताया था कि पंकज मिश्रा साहिबगंज के सी के किरदार में हैं। बाबूलाल मरांडी ने कहा कि तब मुझे इस बात पर भरोसा नहीं हुआ था मगर अब जबकि घोटाले की परतें खुल रही हैं तो मुझे आम लोगों की बात याद आ रही है। 
 
गौरतलब है कि इस वक़्त केंद्रीय जांच एजेंसी ED साहिबगंज समेत संताल के अन्य क्षेत्रों में हुए 1000 करोड़ रुपये के खनन घोटाले की तहकीकात कर रही है। इस मामले में पंकज मिश्रा, बच्चू यादव एवं प्रेम प्रकाश रांची के होटवार जेल में बंद है। खनन घोटाले के तार निलंबित खान सचिव पूजा सिंघल से भी जुड़े हैं। पूजा सिंघल पर खूंटी की उपायुक्त रहते 18 करोड़ रुपये से ज्यादा मनरेगा घोटाले का आरोप है। 19 जुलाई को पंकज मिश्रा को गिरफ्तार किया गया था। 11 मई को पूजा सिंघल गिरफ्तार की गई थीं। इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय को अभी भी पंकज मिश्रा के सहयोगी दाहू यादव एवं उसके भाई सुनील यादव की तलाश है। 

फेसबुक की पेरेन्ट कंपनी META पर लगा 2265 करोड़ का जुर्माना, जानिए वजह ?

प्रवासी भारतीय सम्मेलन के पहले इंदौर Zoo को मिलेगा आकर्षक स्वरूप

श्रीमद्भागवत गीता के श्लोकों से गूंजेगा कुरुक्षेत्र, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने किया ‘गीता महोत्सव’ का शुभारंभ

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -