डाटा लीक: पीएम ने कहा भारत में रखे जाएं सोशल मीडिया के सर्वर

नई दिल्ली: सोशल नेटवर्किंग साइट्स जैसे फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम आदि से होने वाले डाटा लीक को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चिंता जताई है, उन्होंने निर्देश दिया है कि डाटा शेयरिंग का नियमन किया जाए और इन कंपनियों द्वारा भारतीयों का डाटा भारत में स्थिति सर्वर में रखे जाएं. एक रिपोर्ट के अनुसार केंद्रीय मंत्रिमण्डल की हालिया बैठक में ये मुद्दा उठा और ब्रिटिश कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका द्वारा फेसबुक यूजर्स के डाटा की चोरी और दुरुपयोग पर चर्चा हुई तब पीएम मोदी ने कहा कि करोड़ों भारतीयों का डाटा हिन्दुस्तान में स्थित होना चाहिए.

गौरतलब है कि फेसबुक, गूगल, व्हाट्सऐप, इंस्टाग्राम जैसी दिग्गज कंपनियों के प्लेटफॉर्म पर तैयार हुए डेटा का ज्यादातर हिस्सा विदेश में स्थ‍ित सर्वरों में है. ज्यादातर सर्वर अमेरिका में हैं और उनके डेटा को अमेरिकी कानून और कुछ अंतरराष्ट्रीय समझौतों के द्वारा रेगुलेट किया जाता है. फेसबुक डेटा लीक और कैम्ब्रिज एनालिटिका मामले की जांच सरकार द्वारा की जा रही है और सरकार डेटा सुरक्षा के सभी पहलुओं की समीक्षा कर रही है.

आपको बता दें कि फेसबुक से डाटा लीक होने का मामला सामने आने के बाद से मार्क ज़करबर्ग अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर यूजर्स से, ब्रिटेन की संसद और अमेरिकी संसद में माफी माँग चुके हैं. मंगलवार (10 अप्रैल) को ज़करबर्ग अमेरिकी सिनेट में पेश हुए और डाटा लीक की पूरी जिम्मेदारी लेते हुए भरोसा जताया कि भविष्य में ऐसी चूक नहीं होगी. ज़करबर्ग ने अमेरिकी सिनेट में भारत के आगामी चुनाव को लेकर भी बयान दिया और कहा कि इंडिया के आगामी चुनावों के दौरान पूरी तरह ईमानदारी बरती जाएगी. 

डाटा लीक: भारत के आगामी चुनावों में फेसबुक की भूमिका

डाटा लीक: आज अमेरिकी कांग्रेस के सामने पेश होंगे जकरबर्ग

ऐपल के सह संस्थापक ने तोड़ा फेसबुक से नाता

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -