दलित वर्गों को जबरन गलत मामलों में फंसाया जा रहा है: मायावती

लखनऊ: बहुजन समाजवादी पार्टी की मुखिया मायावती ने कहा है कि समाजवादी पार्टी सरकार में जिस प्रकार ब्राह्मणों एवं दलितों का चुन-चुन कर उत्पीड़न किया गया था, अब वैसे ही तत्कालीन की बीजेपी सरकार में इनके साथ-साथ मुसलमानों का भी बहुत उत्पीड़न किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि इन जाति के लोगों को जबरदस्ती गलत केसों में फंसाया जा रहा है, जो बेहद दुःखद है. 

आगे उन्होंने कहा कि जिस तरह से समाजवादी पार्टी सरकार में दलितों के मसीहा डॉ. अम्बेडकर एवं इनके महान सन्तों एवं शिक्षकों की प्रतिमा तोड़ी गई, और उनके नाम पर रखे गए शहरों एवं संस्थानों आदि के नाम परिवर्तित किये गए, ठीक उसी तरफ अब बीजेपी सरकार भी कर रही है. इस वक़्त भी डा. भीमराव अम्बेडकर की भी प्रतिमा तोड़ी जा रही है. उन्होंने वाराणसी एवं जौनपुर की घटना पर दुःख जताते हुए सरकार से इस मसले में सही कदम उठाने की मांग की है. इसी के साथ मायावती ने विपक्षियों के विरुद्ध अपना पक्ष रखा है.

वही दूसरी तरफ राज्य की राजधानी में गुरुवार को 823 लोगों की COVID-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इनमें केजीएमयू के कोविड हॉस्पिटल के अधीक्षक, 40 से ज्यादा डॉक्टर और कई कर्मचारी हैं. इसके अलावा प्रयागराज से भाजपा सांसद डॉ. रीता बहुगुणा जोशी में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है. अब राजधानी में कुल मरीजों की संख्या 30128 हो गई है. इसके अलावा 13 संक्रमित मरीजों ने दम तोड़ दिया. जिसमें एक महिला मरीज बाराबंकी की है. राजधानी में COVID-19 से जान गंवाने वालों आंकड़ा 392 पहुंच गया है.

गुजरात भाजपा अध्यक्ष की रैली में उड़ी सोशल डिस्टन्सिंग की धज्जियाँ, बढ़ा कोरोना का खतरा

कोरोना वैक्सीन पर डॉक्टर एंथनी फॉसी ने कही चौकाने वाली बात

अमेरिका में भारतीय विमानों को मिली ग्राउंड हैंडलिंग ऑपरेशन की इजाजत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -