बारिश से चेन्नई बेहाल, आज भी भारी वर्षा का अनुमान.. तमिलनाडु में NDRF की 11 टीमें तैनात

चेन्नई: तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में बारिश का कहर जारी है। चेन्नई और आसपास के क्षेत्रों में आज भी मूसलाधार बारिश का अनुमान है। सूबे के 20 जिलों में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। मौसम विभाग ने बताया है कि 11 नवंबर को तमिलनाडु के तिरुवल्लुर, कल्लाकुरिची, सेलम, वेल्लोर, तिरुन्नामलाई, रानीपेट और तिरुपुत्तर जिलों के कुछ इलाकों में भारी से भारी वर्षा होने का अनुमान है। वहीं तमिलनाडु के नीलगिरि, कोयंबटूर, चेंगापल्ट्टू, नमक्कल, तिरुचिरापल्ली, चेन्नई और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी के कुछ हिस्सों में भारी बारिश होने की संभावना है। भारी बारिश के कारण कई उड़ानें भी रद्द कर दी गई हैं। 

मौसम विज्ञान विभाग (IMD) चेन्नई के DDG एस बालाचंद्रन ने कहा कि आने वाले 24 घंटों की बात करें तो चेन्नई, तिरवल्लूरस कांजीवरम और रानीपेट जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि जहां तक चेन्नई का सवाल है तो यहाँ वर्षा जारी रहेगी और कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी तथा कुछ स्थानों पर अत्यधिक भारी बारिश होने की आशंका है। मौसम विभाग ने कहा है कि तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में हो रही वर्षा अगले दो दिनों में कम हो सकती है, क्योंकि दबाव जमीन पर आ गया है और धीरे-धीरे अब यह कमजोर पड़ेगा। विभाग ने कहा कि आज बारिश की गतिविधि आंध्र प्रदेश में ज्यादा रहेगी।

मौसम विभाग ने बताया कि इस कम दबाव के क्षेत्र के 11 नवंबर की शाम को तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश के तट से गुजरने का अनुमान है। इस मौसम रुझान के कारण अगले तीन से चार दिनों तक तमिलनाडु के बड़े हिस्से में वर्षा होने की उम्मीद की जा रही है। मौसम विभाग ने कहा कि, यह चेन्नई से तक़रीबन 430 किमी पूर्व-दक्षिण पूर्व और पुडुचेरी से 420 किमी पूर्व-दक्षिण पूर्व में स्थित है। इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की तरफ बढ़ने और 11 नवंबर की सुबह तक उत्तरी तमिलनाडु तट के पास पहुंचने का अनुमान है। इसके बाद 11 नवंबर की शाम तक इसके तट को पार करने का अनुमान है। वहीं, तमिलनाडु में रहत और बचाव कार्यों के लिए NDRF की 11 टीमों को तैनात कर दिया गया है। 

पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर सुबह-सुबह मिली 'खुशखबरी', जानिए आज का भाव

ईरान ने सुरक्षा मुद्दों के समाधान के लिए क्षेत्रीय सहयोग का आह्वान

गुवाहाटी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर किसी भी महिला स्टाफ को पारंपरिक कपड़ों पहनने से मना नहीं किया है | : GIA

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -