News Trending

चंडीगढ़ :  दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने पंजाब के मुख्यमंत्री मामले में पलटी मारी है। उन्होंने कहा है कि वे पंजाब के मुख्यमंत्री नहीं होंगे, बल्कि उसे ही मुख्यमंत्री पद का दायित्व सौंपा जायेगा जो पंजाब मूल का होगा। गौरतलब है कि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने यह कहा था कि यदि पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी तो मुख्यमंत्री के रूप में अरविंद केजरीवाल शपथ ले सकते है।

बुधवार को आप मुखिया केजरीवाल ने पटियाला में आयोजित रैली में मनीष सिसौदिया के बयान को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि पंजाब में सीएम, पंजाब का ही बनेगा। रही बात वादे पूरे करने की तो, वह अपनी जिम्मेदारी से वे सभी वादों को पूरा करेंगे, जो हम पंजाब की जनता के साथ कर रहे है।

बता दें कि पंजाब के नेता, सीएम के रूप में बाहरी व्यक्ति का विरोध कर रहे है। रैली के दौरान केजरीवाल ने नशे की सप्लाई बंद करने, रोजगार देने, विधवा, बुर्जुग और विकलांगों को पेंशन देने, गांवों में चिकित्सालय व सरकारी स्कूल खोलने आदि के भी वादे किये है।

पंजाब में CM को लेकर 'AAP' में घमासान, नाराज हुए भगवंत मान

दिल्ली में शराब पर प्रतिबंध लगाने का कोई प्रस्ताव नहीं : मनीष सिसौदिया