+

हवालात में लगाई थी आरोपी ने फांसी, पोस्टमार्टम में हुआ खुलासा

हवालात में लगाई थी आरोपी ने फांसी, पोस्टमार्टम में हुआ खुलासा

देहरादून: कुछ समय पहले ही सहसपुर थाने की हवालात में दुष्कर्म के आरोपी अभिनव यादव ने फांसी लगाई थी. मेडिकल बोर्ड की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है. हालांकि बोर्ड ने विस्तृत रिपोर्ट को विसरा भी संरक्षित किया गया है. अभिनव के शरीर पर किसी तरह के चोट के निशान भी नहीं पाए गए है. जाहिर है कि थाना परिसर में उसके साथ किसी तरह की मारपीट नहीं हुई थी. नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म के आरोप में पकड़े गए अभिनव यादव ने शुक्रवार रात सहसपुर थाने में मौत हो गई थी. आरोपी हवालात के अंदर एक कील पर लगाए फंदे पर लटका हुआ था. पुलिस ने मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में अभिनव यादव के शव का पंचायतनामा कराया था.

जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि उस समय भी शरीर पर किसी तरह के चोट के निशान पंचायतनामे में दर्ज नहीं हुए थे. पुलिस अभिरक्षा में मौत होने के कारण मेडिकल बोर्ड ने वीडियोग्राफी के बीच शव का पोस्टमार्टम कराया था. मेडिकल बोर्ड की पोस्टमार्टम रिपोर्ट देर शाम पुलिस को मिल सकी. एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद बताया कि पीएम रिपोर्ट में हैंगिग आया है. यानि अभिनव ने फांसी लगाई थी. रिपोर्ट में अभिनव के शरीर पर किसी तरह का चोट का निशान भी नहीं मिला है. उन्होंने बताया कि  मजिस्ट्रीयल जांच भी शुरू हो गई. थाने के सीसीटीवी फुटेज पहले ही सुपुर्द कर दिए गए हैं. 

मालखाने को बनाई गई थी हवालात: सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सहसपुर थाने की जिस हवालात में आरोपी अभिनव यादव ने फांसी लगाई थी, वो असलियत में मालखाना थी. पुरानी हवालात बेहद खराब थी. वहीं इस लिहाज से थाने के मालखाने को ओपन हवालात के रुप में उपयोग किया गया था. जंहा माल खाना होने के कारण अंदर पहले से कील लगी थी. मालखाने को हवालात में तब्दील करते समय कील पर किसी का ध्यान नहीं गया. हवालात के अंदर जाते ही अभिनव की नजर उस पर पड़ गई थी. इसी का फायदा उठाकर आरोपी अपने इरादों में कामयाब हो गया था.

तीन बच्चों संग माँ ने लगाई आग, सास-ससुर को बताया वजह

उत्तर प्रदेश में इंसानियत फिर शर्मसार, 70 वर्षीय वृद्ध महिला के साथ बलात्कार

पश्चिमी यूपी के 22 जिलों में वकील आज रहेंगे हड़ताल पर