आतंकी यासीन मलिक का समर्थन क्यों कर रहे भारतीय मुस्लिम ? कश्मीर में सुरक्षाबलों पर फेंके पत्थर

श्रीनगर: टेरर फंडिंग के मामले में आतंकी यासीन मलिक को आजीवन कारावास की सजा सुनाए जाने के बाद उसके समर्थकों ने जम्मू-कश्मीर में हिंसा और उत्पात मचाना शुरू कर दिया है। उसके श्रीनगर स्थित आवास के बाहर कट्टरपंथी मुस्लिमों की भारी भीड़ इकठ्ठा हो गई। भीड़ ने सुरक्षाबलों पर जमकर पत्थरबाजी भी की। इस दौरान भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस को आँसू गैस के गोले छोड़ना पड़े।

बता दें कि यासीन मलिक का घर श्रीनगर के मायसुमा इलाके में स्थित है। ये इलाका लाल चौक के नजदीक है। यहां के एक वायरल वीडियो में यासीन मलिक समर्थक मुस्लिम महिलाओं ने भी ‘हम चाहते आजादी’,’ नारा एक तकबीर अल्लाहु अकबर’ जैसे मजहबी नारे लगाए। इस बीच हालात को बिगड़ने से रोकने के लिए प्रशासन ने एहतियातन इंटरनेट सर्विस को स्थगित कर दिया है। साथ ही बड़ी तादाद में पुलिस और CRPF के भी जवानों को डिप्लॉय किया गया है।

इसके साथ ही सुरक्षाबलों ने किसी भी वारदात को रोकने के लिए पहले से ज्यादा सतर्कता के साथ घाटी में पेट्रोलिंग शुरू कर दी है। श्रीनगर के तमाम थाना प्रभारियों को प्रत्येक इलाके में गश्त करने पर लगा दिया गया है। जगह-जगह नाकाबंदी कर संवेदनशील जगहों पर सुरक्षा व्यवस्था को और अधिक पुख्ता कर दिया गया है। यासीन मलिक को सजा के कारण बुधवार को श्रीनगर के ज्यादातर हिस्सों में बाजार बंद रहे। हालाँकि, प्रशासन ने लोगों की आवाजाही को बंद नहीं किया है, सिर्फ चेकिंग बढ़ाई है। बता दें कि, आतंकी यासीन मलिक ने भारतीय वायुसेना के 4 निहत्थे जवानों की हत्या की थी, जिसे उसने खुद TV पर और कोर्ट में कबूला भी था। इसके बाद भी कश्मीरी मुस्लिमों द्वारा एक आतंकी समर्थन करना देश के लिए गहरी चिंता का विषय है। 

 

वित्त वर्ष 22 में भारत की अर्थव्यवस्था 9 प्रतिशत से बढ़ रही है: बैंक ऑफ बड़ौदा

आगरा में बड़ा एक्शन, गुटखा-पान मसाला कारोबारियों के 18 ठिकानों पर एकसाथ हुई छापेमारी

कर्नाटक में मस्जिद के नीचे मिला मंदिर ! हालत तनावपूर्ण, धारा 144 लागू

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -