आखिर क्या है अमेरिकन इंडिपेंडेंस डे का इतिहास

वाशिंगटन: संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) आज अपने स्वतंत्रता दिवस की 246वीं वर्षगांठ सेलिब्रेट कर रहे है। वर्ष 1776 में ब्रिटेन से स्वतंत्रा के उपरांत से अमेरिका में हर वर्ष 4 जुलाई को स्वतंत्रता दिवस सेलिब्रेट जाता है। इस दिन पूरे देश में अवकाश का एलान कर दिया गया है। 4 जुलाई 1776 को अमेरिकी कांग्रेस ने ब्रिटेन से स्वतंत्रता का एलान किया था। अमेरिका का इंडिपेंडेंस डे पर परेड और बारबेक्यू का आयोजन भी होता है। अमेरिकीवासी इस दिन लाल, सफेद और नीले रंग के कपड़े भी पहनते हैं। इसके साथ साथ अमेरिकी इतिहास और परंपरा में आतिशबाजी को स्वतंत्रता दिवस समारोह का बहुत महत्वपूर्ण भाग कहा जाता है।

अमेरिका के स्वतंत्रता दिवस का इतिहास: इंडिया की तरह अमेरिका भी ब्रिटिशर्स का गुलाम था। ब्रिटिशर्स ने अमेरिका में भी लोगों पर खूब अत्याचार भी शुरू कर दिया गया था। जिसका परिणाम ये हुआ कि ब्रिटिशर्स और मूल अमेरिकियों के बीच धीरे-धीरे टकराव और भी तेजी से बढ़ने लग गया। लंबे संघर्ष के उपरांत 2 जुलाई 1776 को 13 अमेरिकी कॉलोनियों में से 12 ने आधिकारिक तौर पर ग्रेट ब्रिटेन से अलग होने का निर्णय किया और कॉन्टिनेंटल कांग्रेस द्वारा एक वोट के माध्यम से स्वतंत्रता की अपील भी की गई थी। ठीक दो दिन के उपरांत 4 जुलाई को सभी 13 कॉलोनियों ने स्वतंत्रता के एलान को अपनाने के लिए मतदान किया और एक घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर कर खुद को आजाद घोषित कर दिया। तभी से अमेरिका अपना स्वतंत्रता दिवस सेलिब्रेट कर रहा है। 

13 कॉलोनियों ने मिलकर आजादी का एलान किया गया था जिसे 'डिक्लेरेशन ऑफ इंडिपेंडेंस' भी बोला जाता है। आजादी के उपरांत जनरल जॉर्ज वॉशिंगटन अमेरिका के पहले राष्ट्रपति बने। उन्हें आजादी के लिए लड़ाई लड़ने वाले स्वतंत्रता सेनानी के रूप में भी पहचाना जाता है। इन्हीं के नाम पर अमेरिका की राजधानी का नाम रखा गया है। खबरों का कहना है कि अमेरिका की खोज क्रिस्टोफर कोलंबस ने गलती से की थी। कोलंबस यूरोप से अपने जहाज से भारत आने के लिए निकले थे लेकिन गलती से अमेरिका पहुंच गए। बाद में जब कोलंबस ने बताया कि उन्होंने एक नया द्वीप खोजा है। तो कई देशों में यहां कब्जा करने की होड़ मची हुई है। ब्रिटेन के लोग सबसे अधिक तादाद में यहां आ गए और अपना कब्जा कर लिया।

अफगानिस्तान की सभा में शामिल हुए तालिबान प्रमुख

इटली बनेगा ऊर्जा क्षेत्र में "आत्मनिर्भर", उठाने जा रहा यह कदम

इस देश पर फिर से संयुक्त राष्ट्र ने लगाया प्रतिबन्ध

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -