बाबरी की बरसी पर वसीम रिज़वी ने ओढ़ा भगवा, अपनाया हिन्दू धर्म... रह चुके हैं शिया वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्य मुस्लिम चेहरों में शामिल रहे, शिया वक़्फ़ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी इस्लाम धर्म छोड़कर आज से हिन्दू बन गए हैं. आज गाजियाबाद में यति नरसिंहानंद सरस्वती ने उन्हें सनातन धर्म में दीक्षित किया. वसीम रिजवी ने कहा कि मुझे इस्लाम से बेदखल कर दिया गया है, हमारे सिर पर हर जुम्मे (शुक्रवार) को ईनाम बढ़ा दिया जाता है, इसलिए आज मैं सनातन धर्म अपना रहा हूं. 
 
बता दें कि वसीम रिजवी ने पहले ही ऐलान कर दिया था कि वह सोमवार को बाबरी विध्वंस की बरसी के दिन इस्लाम छोड़ सनातन धर्म अपनाएंगे. इस अवसर पर यति नरसिंहानंद सरस्वती ने कहा कि हम वसीम रिजवी के साथ हैं, रिजवी त्यागी बिरादरी से जुड़ेंगे. शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने घोषणा की थी कि वह इस्लाम छोड़ हिंदू धर्म अपनाने जा रहे हैं. उन्होंने कहा था कि डासना की देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती उन्हें सनातन धर्म में दिखित करेंगे. 

बता दें कि बीते दिनों ही वसीम रिजवी ने अपनी वसीयत सार्वजनिक की थी. इसमें उन्होंने घोषणा की थी कि मरने के बाद उन्हें दफन न किया जाए, बल्कि हिंदू रीति रिवाज के अनुसार, उनका अंतिम संस्कार किया जाए और उनके शरीर का दाह संस्कार किया जाए. वसीम रिजवी ने कहा था कि यति नरसिम्हानंद उनकी चिता को मुखाग्नि दें.

'हमारे जवानों को कोई हल्के में नहीं ले', BSF स्थापना दिवस कार्यक्रम में बोले अमित शाह

राकेश टिकैत को मिलेगा अंतर्राष्ट्रीय सम्मान, लंदन की इस कंपनी ने किया ऐलान

NIMHANS दे रहा इन पदों पर नौकरी का शानदार मौका, जल्द करें आवेदन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -