दूसरे धर्म में शादी करने पर सरकार दे रही 50 हज़ार रुपए ! लगा 'लव जिहाद' को बढ़ावा देने का आरोप

Nov 21 2020 10:54 AM
दूसरे धर्म में शादी करने पर सरकार दे रही 50 हज़ार रुपए ! लगा 'लव जिहाद' को बढ़ावा देने का आरोप

देहरादून: उत्तराखंड सरकार के एक आदेश पर बखेड़ा खड़ा हो गया है। टिहरी गढ़वाल के जिला समाज कल्याण पदाधिकारी द्वारा साइन किए गए एक आदेश में कहा गया है कि राष्ट्रीय एकता की भावना को जीवित रखने और सामाजिक एकता को बनाए रखने के लिए अंतर्जातीय तथा अंतर्धार्मिक विवाह काफी सहायक सिद्ध हो सकते हैं। इससे अलग-अलग परिवारों में एकता की भावना मजबूत होने की बात भी कही गई है। वहीं, कुछ लोग इसे ‘लव जिहाद’ को बढ़ावा देने के रूप में देख रहे है।

समाज कल्याण विभाग ने घोषणा की है कि इस प्रकार के विवाह को बढ़ावा देने के लिए सरकार की ओर से उत्तराखंड के अंतर्जातीय और अंतर्धार्मिक विवाहित दम्पति को प्रोत्साहन के तौर पर 50,000 रुपए प्रदान किए जाते हैं। अंतर्धार्मिक विवाह के संबंध में बताया गया है कि ये संघ या ब्यूरो द्वारा मान्यता प्राप्त मंदिर, मस्जिद, गिरिजाघर या अन्य देवस्थान में संपन्न हुआ हो। इसके लिए आवेदन-पत्र भी मुफ्त मिलता है। ऐसे विवाह के पंजीकरण के बाद अगले एक साल तक आवेदन किया जा सकता है।

वहीं इस आदेश पर ‘सुदर्शन न्यूज़ टीवी’ के मुख्य संपादक सुरेश चव्हाणके ने इस आदेश को ट्वीट करते हुए इसे लव जिहाद को बढ़ावा देने वाला बताया है।  उन्होंने ट्वीट में पूछा है कि ‘लव जिहाद’ करने वाले को सजा की जगह 50,000 का सरकारी इनाम दिया जा रहा है?  देवभूमि उत्तराखंड में ये उल्टी गंगा क्यों बह रही है? जब सारे राज्य ‘लव जिहाद’ के विरुद्ध कानून बना रहे तो उत्तराखंड में इसे बढ़ावा क्यों?'

 

लगातार दूसरे दिन भी बरकरार रही पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोत्तरी, जानिए क्या है दाम

आरबीआइ ने की पैनल से सिफारिश, देश के बैंकिंग ढांचे में होगा बड़ा बदलाव

स्वास्थ्य मंत्री ने राष्ट्रीय नवजात सप्ताह 2020 के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता में लिया भाग