उत्तराखंड विधानसभा प्रश्नकाल: डेंगू से रोजाना 8 लोगों की मौत, लेकिन विपक्ष के गले नहीं उतरा आंकड़ा

उत्तराखंड विधानसभा प्रश्नकाल: डेंगू से रोजाना 8 लोगों की मौत, लेकिन विपक्ष के गले नहीं उतरा आंकड़ा

देहरादून: दिनों दिन बढ़ती जा रही बिमारिओं कि समस्यों के चलते सदन में भगवानपुर विधायक ममता राकेश के सवाल के जवाब में सरकार ने बताया कि प्रदेश में डेंगू से सिर्फ आठ रोगियों की मौत हुई है. सरकार का यह आंकड़ा विपक्ष के गले नहीं उतरा. नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश ने कहा कि हल्द्वानी में ही डेंगू से 25 से अधिक लोगों की मौत हुई. संसदीय कार्यमंत्री मदन कौशिक का कहना था अधिकतर रोगियों की मौत अन्य बीमारियाें से हुई है. प्रश्नकाल में ममता राकेश ने सरकार से पूछा था कि डेंगू से प्रदेश में कई मौतें हुईं हैं, इस मामले में सरकार कोई मुआवजा देगी? संसदीय कार्यमंत्री मदन कौशिक ने बताया कि प्रदेश में डेंगू से सिर्फ आठ मौतें हुई हैं. सरकार ने एलाइजा टेस्ट के सकारात्मक परिणाम सामने आने के बाद पीड़ितों के निधन के आंकड़ों की पुष्टि के लिए मुख्य चिकित्साधिकारियों को जांच के लिए कहा था.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नेता प्रतिपक्ष ने सरकार पर इस मामले को बहुत हल्के में लेने का आरोप लगाया और कहा कि विपक्ष इस मामले को लेकर विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाएगी. सरकार सदन को गलत जानकारी दे रही है. सत्ता पक्ष के विधायक महेंद्र भट्ट, विकासनगर विधायक मुन्ना सिंह चौहान ने भी इस मामले को लेकर सवाल पूछे.

छात्रवृत्ति के भौतिक सत्यापन में कर्मियों की कमी: हम आपको बता दें कि सत्ता पक्ष के टिहरी विधायक धन सिंह नेगी ने पूछा कि छात्रवृत्ति को छात्रों में हस्तांतरित करने की व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए आईटी का उपयोग होगा. समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य ने कहा कि भौतिक सत्यापन के लिए विभाग के पास कर्मियों की कमी है, अधियाचन भेजा जा चुका है. छात्रवृत्ति बैंक खातों में ट्रांसफर की जा रही है. कुछ मामलों में अड़चन सामने आई है. 

समाजवादी पार्टी ने संगठन को मजबूत करने के लिए कड़ा निर्णय, जिलाध्यक्ष नही कर सकते ये काम

तेजस्वी यादव अपने चाचा नीतिश कुमार से हुए बहुत नाराज, कहा-अब सारे रिश्ते खत्म...

सीएम अशोक गहलोत ने इस नेता को बताया निडर और साहसी, कहा- पीएम मोदी के सामने एकमात्र विकल्प