एक पैर से विकलांग होने के बाद भी नहीं हारी हिम्मत, मेहनत और लगन से पेश की मिसाल

Jul 28 2019 04:36 PM
एक पैर से विकलांग होने के बाद भी नहीं हारी हिम्मत, मेहनत और लगन से पेश की मिसाल

बलरामपुर: उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में एक पैर से दिव्यांग जगदंबा सिंह ने अपनी मेहनत के दम पर समाज में एक उदहारण पेश किया है. एक पैर से दिव्यांग जगदंबा सिंह समाज में कंधे से कंधा मिलाते हुए मेहनत करके अपने परिवार का पालन पोषण कर रहे हैं. स्थानीय लोग भी जगदंबा की मेहनत की प्रशंसा करते नहीं थकते हैं. जिले के कलेक्टर ने जगदंबा सिंह की मेहनत और जूनून को देखकर दिव्यांग का हर संभव सहायता का भरोसा दिया हैं.

बलरामपुर जिले में रामनुजगंज के जगदंबा सिंह को डेढ़ वर्ष पूर्व पोलियो की बीमारी हो गई थी, जिससे उनका एक पाँव पूरी तरह से खराब हो गया. इसके बाद जगदंबा अब बैसाखी के सहारे चलते हैं. परिवार की वित्तीय स्थिति सही नही होने से जगदम्बा ने एक पैर के सहारे अब ऑटो चलाकर अपना परिवार का पालन पोषण कर रहे है. जगदंबा अकेले ही भारी भरकम समान ऑटो में लाद कर ले जाते हैं और अपनी मेहनत पर यकीन रखते हैं. जगदंबा अपना काम अच्छे से कर सके इस लिए वो शासन से एक ऑटो मांग रहे हैं.

स्थानीय लोगों की मानें तो जगदंबा ने कभी हार नहीं मानी और एक पैर से दिव्यांग होने के बाद भी आज एक सामान्य इंसान की तरह काम करके अपना परिवार चला रहे है जो प्रशंसा करने योग्य है. जगदंबा ने समाज के लिए एक उदहारण पेश की है अब दिव्यांग की मदद करने के लिए शासन प्रशासन को भी आगे आना चाहिए.

इतने हवाई अड्डों का निजीकरण करेगी सरकार

मई महीने में इतने रोजगार पैदा हुए

जीएसटी कौंसिल ने इलैक्ट्रिक वाहनों के मामले में लिया निर्णय, कर में हुई इतनी कटौती