दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया बोले- कोरोना के कारण आधा किया जाए स्कूल का सिलेबस

दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया बोले- कोरोना के कारण आधा किया जाए स्कूल का सिलेबस

नई दिल्ली: दिल्ली की केजरीवाल सरकार में शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने NCERT जनरल काउंसिल की 57वीं मीटिंग में मौजूदा वर्षवार कक्षाओं और 10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षाओं की जगह बहुवर्षीय स्टेज के मुताबिक कक्षाओं और हर स्टेज के अंत में एक्सटर्नल एसेसमेंट की प्रणाली लागू करने का सुझाव दिया है. इसके साथ ही यह सुझाव दिया कि बोर्ड परीक्षा समाप्त हो और उसकी जगह प्रत्येक स्टेज के आखिर में एक्सटर्नल असेसमेंट हो.

सिसोदिया ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री के बयान सहमति व्यक्त करते हुए कहा कि देश में शिक्षा के क्षेत्र में आधारभूत बदलाव में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 की अहम भूमिका होगी. किन्तु यह बदलाव टुकड़ों में नहीं, बल्कि समग्र होना चाहिए. मनीष सिसोदिया ने कहा कि नई शिक्षा नीति में प्रस्तावित चार स्टेज यानी 5+3+3+4 को सही मायने में लागू करना चाहिए. इसके तहत एक साल एक क्लास का सिस्टम समाप्त करके बहुवर्षीय स्टेज सिस्टम लागू किया जाना चाहिए. इससे बच्चे अपनी गति से अलग अलग विषयों में अपनी आवश्यकता के अनुसार आगे बढ़ सकेंगे.

मनीष सिसोदिया ने कहा कि एक स्टेज से दूसरे स्टेज में जाने के बाद यदि कुछ बच्चे उस लेवल के अनुरूप लर्निंग आउटकम प्राप्त नहीं कर पाए हों, तो उसे पूरा करने के लिए कुछ महीनों के लिए रेमेडियल क्लासेज भी लगाई जा सकती हैं. मौजूदा शैक्षिक सत्र के बारे में सिसोदिया ने कहा कि NCERT ने इस वर्ष कोरोना की वजह से सिलेबस एक तिहाई कर दिया है, किन्तु स्कूल के अब तक बंद होने के कारण सिलेबस को इस साल के लिए आधा किया जाना चाहिए. 

रिलायंस में एफआईआई की बढ़ी हिस्सेदारी

इंडियन इक्विटी, कंपोजिट बॉन्ड फंड्स ने इंडेक्स को किया अंडरपरफॉर्म: रिपोर्ट

RBI का बड़ा ऐलान- नया QR कोड जारी नहीं कर सकेंगी पेमेंट कंपनियां