सरकार गठन को लेकर जारी है BJP-PDP कश्मकश

Feb 10 2016 10:19 AM
सरकार गठन को लेकर जारी है BJP-PDP कश्मकश

श्रीनगरजम्मू-कश्मीर में भारतीय जनता पार्टी और पीपुल्स डेमोके्रेटिक पार्टी द्वारा सरकार के गठन की कवायदें तेज़ हो रही हैं। इस मामले में भारतीय जनता पार्टी की कुछ शर्तें हैं तो पीडीपी अपने उसूलों से समझौता नहीं करना चाहती है ऐसे में दोनों ही दलों को सरकार बनाने में काफी समय लग रहा है। हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के निधन के 40 दिन पूर्ण होने के बाद सरकार गठन की प्रक्रिया और भी गति से आगे बढ़ सकती है।

इस मामले में पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने सरकार गठन को लेकर भाजपा से गठबंधन करने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आश्वासन मांगा है। मिली जानकारी के अनुसार पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती पार्टी के घटते जनाधार को लेकर परेशान हैं लेकिन वे भाजपा पर एक दबाव बना रही हैं जो कि सरकार के गठन को लेकर है।

इस राजनीतिक दबाव को लेकर वे लाभ लेने का प्रयास करने में लगी हैं। इस तरह के एजेंडे आॅफ एलायं से कड़ाई से निपटने के लिए वे प्रयास कर रही हैं। दूसरी ओर वे केंद्र सरकार द्वारा किए जाने वाले विशेष राहत पैकेज, शांतिप्रकिया बहाली आदि मसलों को जनता के बीच प्रचारित कर दोनों ही पार्टियों की छवि सुधारने के प्रयास कर सकती हैं।

मगर सरकार गठन को लेकर भाजपा के साथ वे किसी तरह का सझौता भी नहीं करना चाहती है। इस तरह के समझौते में वे मसले शामिल हैं जो घाटी में पीडीपी के जनाधार को मजबूत बनाते हैं। दरअसल उन्होंने इशारा किया कि भाजपा इस तरह का कोई कदम उठाने की स्थिति में नहीं है जिससे वे कश्मीर या फिर पाकिस्तान जैसे अन्य मसले पर राष्ट्रीय राजनीति में कमजोर हो सकती हैं।  

यही नहीं आगामी समय में उत्तरप्रदेश, पश्चिम बंगाल, केरल आदि राज्यों में चुनाव होने हैं और सरकार संसद के बजट सत्र पर भी ध्यान केंद्रित कर रही है ऐसे में जम्मू - कश्मीर में सरकार गठन में भाजपा को कुछ समझौता करना पड़ सकता है। ऐसे में पीडीपी को कुछ राजनीतिक लाभ मिल सकता है।

हालांकि पार्टी गठबंधन पर सहमति जता सकती है लेकिन प्रधानमंत्री या पार्टी अध्यक्ष के स्तर पर वह गठबंधन को लेकर अपनी नीतियों में कोई समझौता नहीं करना चाहती है। संघ भी ऐसे मसलों पर समझौता नहीं करना चाहता है जो जम्मू - कश्मीर से जुड़े हों और भाजपा व आरएसस के आधार की पहचान हों।