योगी राज में फिल्म निर्माण के लिए सबसे 'अनुकूल' राज्य बना यूपी, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने दिया पुरस्कार

लखनऊ: 68वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार एवं दादा साहेब फाल्के पुरस्कार-2020  शुक्रवार (30 सितंबर) को विज्ञान भवन, नई दिल्ली में आयोजित हुआ। इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश को फिल्मकारों का अपने सूबे में स्वागत करने और उन्हें अच्छे काम जारी रखने के लिए प्रेरित करने के लिए सक्रिय दृष्टिकोण के लिए विशेष उल्लेख प्रमाण-पत्र (स्पेशल मेंशन सर्टिफिकेट) प्रदान किया गया है। 

उत्तर प्रदेश की ओर से सर्वाधिक फिल्म अनुकूल राज्य (विशेष उल्लेख) का यह पुरस्कार वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से प्राप्त किया। सरकारी प्रवक्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया है कि सीएम योगी आदित्यनाथ के दिशा-निर्देशन में राज्य सरकार प्रदेश में फिल्म निर्माण से संबंधित विभिन्न गतिविधियों को लगातार प्रोत्साहित कर रही है। सूबे में फिल्म सिटी का विकास किया जा रहा है। फिल्म निर्माण के उद्देश्य से यूपी में विपुल संस्कृति एवं धरोहर मौजूद हैं। 

प्रवक्ता ने कहा कि राज्य का गौरवशाली इतिहास, इसकी वैभवपूर्ण वास्तुकला, समृद्ध परम्पराओं एवं स्थानीय संस्कृतियों की विविधता आदि यूपी को फिल्म निर्माण के लिए आकर्षण का बड़ा केन्द्र बनाती हैं। यह राज्य फिल्म निर्माण की दृष्टि से एक शानदार जगह है। बता दें कि, यूपी में फिल्म उद्योग को बढ़ावा देने के लिए फिल्म नीति लागू कर दी है। इस नीति में प्रदेश में फिल्म निर्माताओं को विभिन्न सुविधाएं देने का प्रबंध किया गया है।

पाकिस्तान पर बड़ी डिजिटल स्ट्राइक, भारत में शाहबाज़ सरकार के अकाउंट पर लगा बैन

गुरुरगाम: Global Foyer Mall में भड़की भीषण आग, दमकल विभाग की गाड़ियां मौके पर

अजय से लेकर सूर्या तक जानिए किसने जीता कौन सा पुरस्कार

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -