मां के अंतिम संस्कार के लिए आपस में भिड़े दो भाई, हिन्दू-मुस्लिम के चक्कर में हुई लड़ाई 

लखीसराय: बिहार के लखीसराय से एक अजीबोगरीब घटना सामने आई है जहां महिला की मौत के पश्चात् उसके अंतिम संस्कार को लेकर दो बेटे आपस में भिड़ गए। मामला चानन थाना इलाके के जानकीडीह गांव का है। दरअसल, जिस महिला की मौत हुई है उसके दो बेटे और एक बेटी है। पहला बेटा मुस्लिम है जबकि उसका छोटा बेटा एवं बेटी हिन्दू हैं। महिला पहले मुस्लिम थी मगर बाद में वो धर्म बदलकर रायका खातून से रेखा देवी बन गई थी।

मुस्लिम से हिंदू बनी महिला रेखा देवी की मौत हुई तो उसके अंतिम संस्कार को लेकर बेटों के बीच विवाद आरम्भ हो गया। बड़ा बेटा जहां मुस्लिम रीति रिवाज से मां का अंतिम संस्कार करना चाह रहा था वहीं छोटा बेटा बेटा हिन्दू रीति रिवाज से मां को मुखाग्नि देना चाहता था। अंत्येष्टि को लेकर दोनों बेटे में विवाद बढ़ता देख लोगों ने इसकी खबर पुलिस को दी। मौके पर एएसपी इमरान मसूद, चानन थानाध्यक्ष रूबीकांत कच्छप अपनी टीम के साथ पहुंचे तथा दोनों भाइयों के विवाद को सुलझाया। तत्पश्चात, पूरे गांव के लोगों ने ASP इमरान मसूद की प्रशंसा की।

दरअसल, जानकीडीह गांव निवासी राजेंद्र झा ने 45 वर्ष पहले एक मुस्लिम महिला रायका खातून से प्रेम विवाह किया था। जिस समय ये शादी हुई थी उस समय उसके साथ उसका एक बेटा मोहम्मद मोफिल भी था। बाद में महिला ने एक पुत्र एवं एक पुत्री को जन्म दिया। बेटे का नाम बबलू झा रखा गया। जब महिला की मौत हुई तो उसके दोनों बेटे अंतिम संस्कार के लिए भिड़ गए। घटना की खबर प्राप्त होने पर मौके पर पहुंचे एएसपी इमरान मसूद ने दोनों बेटों को समझा बुझाकर शांत कराया तथा विवाद का हल निकाला। महिला के शव को उसके बेटे बबलू झा को सौंप दिया गया। एसपी सैयद इमरान मसूद एवं चानन थाना अध्यक्ष रूबी कांत कश्यप ने मामले की जाँच कर बबलू झा को मां की अंत्येष्टि की अनुमति दे दी।

बिहार में घटी श्रद्धा हत्याकांड से भी ज्यादा दर्दनाक घटना, जिंदा महिला के कर डाले टुकड़े और फिर...

शादी की रस्म के दौरान दूल्हे से बोली दुल्हन- 'तुम काले हो...' और फिर मच गया बवाल

देवरिया में हाथ से उखाड़ी सड़क, जानिए पूरा मामला

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -