बिहार की गलियों से निकलकर टीवी इंडस्ट्री तक ऐसे पहुंची रतन राजपूत

टेलीविज़न जगत की मशहूर अदाकारा रतन राजपूत आज अपना जन्मदिन मना रही हैं। रतन का जन्म 20 अप्रैल 1987 को पटना में हुआ था। उनके पिता का नाम राम रतन सिंह है तथा मां का नाम सीमा चौहान है। रतन ने स्वयं को बिहार की गलियों से बाहर निकालकर टेलीविज़न जगत तक पहुंचाया है। रतन राजपूत ने अपने करियर में कई बेहतरीन टेलीविज़न सीरियल में काम किया। मगर उन्हें असली पहचान 'अगले जनम मोहे बिटिया ही कीजो' से मिली। इस सीरियल के कारण रतन घर-घर में मशहूर हो गई थीं। 

रतन राजपूत बचपन से ही एक्ट्रेस बनना चाहती थीं मगर उनका परिवार नहीं चाहता था कि वह टेलीविज़न इंडस्ट्री में कदम रखें। हालांकि, रतन राजपूत ने अपने परिवार की नहीं सुनी तथा उन्होंने अपने शौक को ही करियर के रूप में चुन लिया। रतन ने दिल्ली आकर थिएटर गुरु सुरेंद्र शर्मा से अभिनय सीखा तथा उन्होंने सुरेंद्र शर्मा के निर्देशन में 'निर्मला' तथा 'मैला आंचल' जैसे नाटक भी किए। कहा जाता है कि एक बार रतन मुंबई घूमने आई थीं, तब उन्होंने यहां सीरियल के लिए ऑडिशन भी दिया था। ऐसे ही रतन के करियर की गाड़ी चल पड़ी। 

रतन राजपूत एक से एक हिट सीरियल में दिखाई दी हैं। उन्होंने 'राधा की बेटियां कुछ कर दिखाएंगी', 'महाभारत', 'संतोषी मां', 'रिश्तों का मेला' तथा 'अगले जनम मोहे बिटिया ही कीजो' जैसे सीरियल में काम किया है। इन सभी सीरियल में रतन के काम को बहुत पसंद किया गया। इसके अतिरिक्त, वह विवादित रियलिटी शो 'बिग बॉस' के सीजन सात में बतौर प्रतियोगी दिखाई दी थीं। वह अंतिम बार सीरियल 'संतोषी मां' में नजर आई थीं। इन दिनों वह टेलीविज़न इंडस्ट्री से दूर सोशल मीडिया पर बहुत सक्रीय रहती हैं।

अजय देवगन ने भरी महफ़िल में उड़ाया कपिल शर्मा का मजाक, बोले- 'तू ढंग के कपड़े नहीं पहनता...'

चारु असोपा की बेटी को बुआ सुष्मिता सेन ने दिया खास तोहफा, इंटरनेट पर छाया VIDEO

उर्फी जावेद ने खरीदी 'जीप कंपास' कार, जानिए इसकी कीमत और खासियत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -