बाइपोलर डिसऑर्डर से जूझ रहे अभिनेता ने साझा किया अपना दर्द

दिवंगत बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह रापजूत की बीमारी का उपचार कर रहीं डॉक्टर सुजैन वॉकर के मुंबई पुलिस को दिए बयान के अनुसार, अभिनेता अपनी बीमारी के बारे में अच्छी प्रकार जानते थे. चिकित्सक वॉकर का मुंबई पुलिस को दिया बयान आज तक के पास उपस्थित है. इस बयान में उन्हें अपने स्वास्थ्य के बारे में पता था, तथा उन्हें लगता था कि वह कभी स्वस्थ नहीं होंगे. 

वही दिवंगत अभिनेता की प्रकार ही हॉलीवुड अभिनेता डेविड हार्बर बाइपोलर डिसऑर्डर से जूझ रहे थे. उन्होंने कहा था कि वे 25 वर्ष के थे, जब उन्हें इस बारे में पता चला था. हार्बर ने मार्क मैरॉन के साथ पॉडकास्ट में चर्चा करते हुए कहा था कि वे अपनी लाइफ के धार्मिक तथा अध्यात्मिक फेज के समय मेनिया से गुजरे थे. मेनिया मतलब एक ऐसा दौर जब व्यक्ति सामान्य से अधिक प्रसन्नता,उत्साह अथवा दुःख फील कर सकता है, तथा मेनिया बढ़ने के साथ-साथ व्यक्ति की बेेचैैनी बढ़ सकती है, तथा वो हिंसक हो सकता है. इसे बाइपोलर डिसऑर्डर के साथ जोड़ कर भी देखा जाता है.

आगे उन्होंने कहा कि एक ऐसा समय था, जब मुझे लगता था कि मेरा भगवान के साथ कुछ विशेष ढंग का संपर्क है, जबकि असल में ऐसा कोई संपर्क नहीं था. मुझे अचानक लगने लगा था कि मेरे पास विश्व के सारे जवाब हैं. हालांकि हार्बर की स्थिति को देखते हुए उनके अभिभावकों ने उन्हें मेंटल हॉस्पिटल में एडमिट कराया था. वहां हार्बर को बाइपोलर डिसऑर्डर के लिए टेबलेट दी जाती थीं. इसी के साथ हॉर्बर ने अपनी राय रखी है.

‘ए वेडनेसडे’ के बाद रॉनी ने की ‘ए थर्सडे’ बनाने की घोषणा, ये एक्ट्रेस निभाएगी खतरनाक रोल

ड्रग डीलर का खुलासा, रिया के भाई से है गहरे संबंध

रात 12 बजे यह चीज खाते हैं अमिताभ, रणवीर बोले- 'ये क्या कर रहे हैं आप'

Most Popular

- Sponsored Advert -