सरकार के फैसले से शिवसेना नाराज

Apr 15 2015 07:56 PM
सरकार के फैसले से शिवसेना नाराज
महाराष्ट्र / मुंबई: शिवसेना के द्वारा हाल ही में सरकार के "मराठी फिल्मो" के मुद्दे के पीछे हटने से नाराजगी जाहिर की गई है, गौरतलब है कि शिवसेना ने हाल ही में यह मुद्दा उठाया था कि मल्टीप्लैक्सों में प्राइम टाइम में मराठी फिल्म दिखाई जाना चाहिए। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में यह बात लिखते हुए यह स्पष्ट किया है कि उन्होंने इस मामले में राज्य के संस्कृति मंत्री विनोद तावड़े से यह कहा कि वे शाम को 6 से 9 तक सभी मल्टीप्लैक्सों में मराठी फिल्मों को दिखाए जाने की अपनी पूर्ववती घोषणा पर दृढ़ रहें।
 
सामना में इस मामले को "प्राइम टाइम भीख नहीं" शीर्षक के नाम से लिखे इस संपादकीय लेख में यह कहा गया है कि, ‘‘प्राइम टाइम भीख नहीं बल्कि मराठी सिनेमा का हक है।’’ शिवसेना का यह भी कहना है कि सरकार का मल्टीप्लैक्सों में मराठी सिनेमा दिन के 12 बजे से रात के नौ बजे के बीच कभी भी दिखाये जाने का हालिया कदम दर्शाता है कि सरकार ने सिनेमाघर मालिकों के सामने घुटने टेक दिए हैं। यह भी कहा गया है कि मराठी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर भी अच्छा कर रही हैं और साथ ही बेहतर विषयवस्तु भी दिखा रही हैं। जबकि सबके दवारा उन्हें एक गलत टाइम स्लॉट देकर इसकी गणना कम की जा रही है।