घूंघट डालकर वोट मांगने निकली पाकिस्तान मूल की बहू, CAA विरोधियों को दिया खास संदेश

Jan 16 2020 02:39 PM
घूंघट डालकर वोट मांगने निकली पाकिस्तान मूल की बहू, CAA विरोधियों को दिया खास संदेश

भारत की संसद से पास होने के बाद से नागरिकता कानून को लेकर हिंसा और विरोध देखने को मिला है, लेकिन दूसरी ओर पाकिस्तान मूल की राजस्थान में टोंक जिले की बहू नीता कंवर भारतीय नागरिकता हासिल करने के बाद नटवाड़ा ग्राम पंचायत से सरपंच का चुनाव लड़ रही है.

NZvIND: भारत के विरुद्ध T-20 में उतरा न्यूजीलैंड, ढाई साल बाद इस खिलाड़ी ने की वापसी

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार नीता कंवर पढ़ने के लिए पाकिस्तान से जयपुर आई और फिर करीब आठ साल पहले टोंक जिले के नटवाड़ा गांव के ठिकानेदार परिवार की बहू बनी.पुण्य प्रताप करण के साथ उनका विवाह हुआ. नीता कंवर को पांच माह पहले सितंबर, 2019 में भारतीय नागरिकता मिली है.इन दिनों घूंघट (पर्दे) में वोट मांग रही नीता कंवर नागारिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को देश के लिए आवश्यक मानती है.

फांसी से राहत पाने की कोशिश कर रहा आरोपी मुकेश, निर्भया के स्वजनों को नोटिस जारी

अपने बयान में अनीता कंवर का कहना है कि सीएए और एनआरसी का विरोध केवल राजनीति के लिए करना गलत है,इससे देश में रह रहे लोगों को कोई नुकसान नहीं है, अवैध रूप से रहने वालों को बाहर भेजना भी जरूरी है. उन्होंने कहा कि अवैध रूप से हमारे यहां रह रहे लोग अपराधों में लिप्त रहते हैं, इनके कारण स्थानीय लोगों को मुश्किल होती है. सीएए और एनआरसी को लेकर एक बातचीत मे उन्होंने कहा कि मुझे भारतीय नागरिकता मिली, मैं बेहद प्रसन्न हूं, पाकिस्तान में हिंदू परिवारों को परेशान किया जाता है.

दिल्ली में भाजपा बड़ा गेम खेलने को तैयार, चुनावी रण में उतारने वाली है दिग्गज नेता

कांग्रेस ने उठाया कड़ा कदम, इस बागी विधायक को दिखाया बाहर का रास्ता

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पद पर नामांकन आज, इस दिग्गज नेता का निर्विरोध चुना जाना लगभग तय