हिमस्खलन के कारण प्रभावित हुआ घाटी का यातायात, अब बढ़ रही परेशानी

Feb 12 2019 09:13 PM
हिमस्खलन के कारण प्रभावित हुआ घाटी का यातायात, अब बढ़ रही परेशानी

श्रीनगर : प्रदेश के कई क्षेत्रों में पहाड़ी के एक बड़े हिस्से के नीचे आ जाने से सोमवार छठे दिन भी जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को खोलने में सफलता नहीं मिल पाई। हाईवे पर हजारों ट्रकों के फंसे होने के कारण घाटी के लिए जरूरी खाद्य पदार्थों और अन्य सप्लाई प्रभावित हुई है। जम्मू और दूसरे स्थानों पर बड़ी संख्या में फंसे लोगों में प्रशासन के खिलाफ गुस्सा है। बता दें घाटी में पिछले कई दिनों से बर्फ़बारी का दौर जारी है.

राजधानी में आंध्र भवन के पास मिला दिव्यांग का शव, खुदकुशी की आशंका

लगातार जारी है राहत और बचाव कार्य 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार मौसम साफ रहने के बावजूद सोमवार को मारोग पुल क्षेत्र में भूस्खलन से पहाड़ी का एक बड़ा हिस्सा नीचे आ गया। गनीमत यह रही कि उस समय कोई गाड़ी नीचे से गुजर नहीं रही थी। हाईवे से मलवा हटाने के लिए चार मशीनें लगाई गई हैं। लेकिन पहाड़ से लगातार गिर रहे पत्थरों और पस्सियों से हाईवे को बहाल करने में मुश्किलें आ रही हैं। डीएसपी हाईवे के अनुसार उधमपुर, मनवाल और टिकरी के पास ही करीब तीन हजार ट्रक फंसे हुए हैं। राज्यपाल के सलाहकार ने जरूरी सप्लाई बहाल रखने के लिए हाईवे को क्लीयर करने को सभी जरूरी इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं।

IRCTC घोटाला: अदालत ने ईडी और सीबीआई को दिए निर्देश, आरोपियों को सौंपने होंगे दस्तावेज 

पहले भी हुआ है भूस्खलन 

जानकारी के लिए बता दें रात में भी काम जारी रखने के लिए घटनास्थल के पास एसडीआरएफ के रोशनी देने वाले वाहन को रखा गया है। बताया जा रहा है की इससे पहले सोमवार सुबह पंथियाल और कैला मोड़ से हाईवे क्लीयर कर लिया गया था। इस दौरान भूस्खलन से एक वाहन क्षतिग्रस्त हुआ, लेकिन कोई जानी नुकसान नहीं हुआ।   

अभी घर ले आएं सुजुकी की यह गाडी, मिल रहा 80 हजार रु तक का डिस्काउंट

समलैंगिकता पर सर्वोच्च अदालत ने NGO को दी याचिका वापिस लेने की इजाजत

भारी पड़ा युवक-युवती को मकान की छत पर मेल मिलाप, इस हालत में मिले