क्यों मुंगेर बना गांजे की बड़ी मंडी?

मुंगेर : बिहार में पूर्ण शराब बंदी के कारण गांजे की मांग बढ़ गई है. नशे के माफिया नेपाल से गंगा के जल मार्ग के रास्ते बड़े स्तर पर गांजा मुंगेर ला रहे हैं. 10 दिनों में पुलिस ने छापा मारकर बड़ी मात्रा में गांजा बरामद कर एक लाख नकद जब्त किये. नेपाल से गांजा मुंगेर आ रहा है. नेपाल से मुंगेर तक माफिया के तार जुड़े हुए हैं. बताया जा रहा है कि नेपाल से गांजा मोतिहारी, कटिहार के रास्ते बेगूसराय व खगड़िया जिले में स्टाक किया जाता है. जिसे मौका देखकर विभिन्न ग्रामीण घाटों पर उतारा जाता है फिर सुरक्षित स्थान पर रख दिया जाता है और मांग के हिसाब से पूर्ति की जाती है.

मुंगेर गांजे की बड़ी मंडी बन चुका है. चाय-पण की गुमटी, बस स्टेण्ड, रिक्शा पड़ाव सहित कई स्थानों पर गांजा बेचने का धंधा जोरों पर है. थैलों में पुडिया भरी के हिसाब से बना कर रखी जाती है. ग्राहक के आते ही पुडिया दे दी जाती है. मन जा रहा है कि सिर्फ मुंगेर शहर में रोजाना 5 लाख का खुदरा कारोबार होता है, जबकि थोक में भी गांजा मुंगेर से अन्य जगह ले जाया जाता है. शराब बंदी के कारण गांजे की मांग बढ़ गई है.

हालाँकि पुलिस ने पिछले दिनों अलग अलग जगह कार्रवाई कर कई किलो गांजा और नकदी रुपए बरामद किये हैं. एसपी आशीष भारती का कहना है कि पूर्ण शराबबंदी और पंचायत चुनाव के कारण गांजे के धंधेबाज सक्रिय हो गये हैं. पुलिस लगातार छापामारी कर रही है, जिसमें सफलता भी मिली है. गंगा मार्ग पर पुलिस की नजर है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -