अगर कृषि बिल 'किसान विरोधी' हैं तो पूरे देश में विरोध क्यों नहीं हो रहा - संजय राउत

Sep 20 2020 02:36 PM
अगर कृषि बिल 'किसान विरोधी' हैं तो पूरे देश में विरोध क्यों नहीं हो रहा - संजय राउत

मुंबई: शिवसेना के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने रविवार को कृषि बिलों के मुद्दे पर मोदी सरकार पर हमला बोला. कृषि बिलों को राज्यसभा में पेश किए जाने और उस पर चर्चा के दौरान संजय राउत ने पीएम नरेंद्र मोदी पर कई सवाल दागे. संजय राउत ने कहा कि, आज जो विधेयक आप ला रहे हैं, सच में यदि आप यह आश्वस्त कर दें कि कोई भी किसान भूखा नहीं सोएगा, कोई भी किसान ख़ुदकुशी नहीं करेगा तो यह सरकार की काफी बड़ी उपलब्धि होगी.

उन्होंने कहा कि बिल के संबंध में थोड़ा कन्फ्यूजन है. आपने जो बाज़ार बना दिया कि मंडी के भीतर, मंडी के बाहर के लोग मंडी पर कब्जा करेंगे. यह स्थिति भी कॉरपोरेट के हाथ जा रही है. एक दिन का विशेष सत्र बुलाया जाना चाहिए. एक दिन की चर्चा होनी चाहिए. तब ऐसे विधेयक लाने चाहिए. संजय राउत ने आगे कहा है कि देश में 70 फीसदी लोग कृषि से जुड़े हुए हैं. पूरे लॉकडाउन में किसान ही काम रहे थे. सरकार क्या भरोसा दे सकती है कि विधेयक के पारित होने के बाद किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी और आगे देश में कोई भी किसान ख़ुदकुशी नहीं करेगा. 

हालांकि, संजय राउत ने यह भी कहा कि यदि यह विधेयक किसान विरोधी है तो पूरे देश में विरोध क्यों नहीं हो रहा है? यदि पूरे देश में विरोध नहीं हो रहा है तो इसका अर्थ है कि बिल में दम है. किन्तु कुछ कन्फ्यूजन भी है. विधेयक को लेकर कुछ भ्रम हैं. सरकार को इसे दूर करना चाहिए.

राजस्थान में बेकाबू हुआ कोरोना, 11 जिलों में धारा 144 लागू, बनेंगे वॉर रूम

कोरोना को मात देने के बाद पहली बार संसद पहुंचेंगे अमित शाह, लोकसभा की कार्यवाही में होंगे शामिल

कृषि बिलों को लेकर केंद्र पर हमलावर हुई कांग्रेस, कहा- मंडी के बाहर MSP की गारंटी कौन लेगा ?