मथुरा के शाही इबादतगाह को पवित्र करने की घोषणा, पुलिस अलर्ट, धारा 144 लागू

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मथुरा में शाही ईदगाह मस्जिद में भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति स्थापित करने के लिए ‘हिन्दू महासभा’ ने संकल्प यात्रा की घोषणा की है। कई अन्य हिन्दू संगठनों ने इस प्रकार के प्रदर्शनों और कार्यक्रमों की योजना तैयार की है, जिससे वहाँ का पुलिस-प्रशासन हलकान है। श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर और वहाँ मौजूद शाही ईदगाह मस्जिद परिसर के आसपास ‘येलो जोन’ में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। जिला प्रशासन ने लोगों से आग्रह किया है कि वो सोशल मीडिया पर कोई विवादित पोस्ट न करें।

अफवाहें फैलाने और भड़काऊ पोस्ट वगैरह करने वालों पर पुलिस ने सख्त कार्रवाई किए जाने की भी चेतावनी दी है। दरअसल, ‘हिन्दू महासभा’ ने 6 दिसंबर को मूर्ति स्थापना का ऐलान किया है, इसी दिन 1992 में अयोध्या में बाबरी ढाँचे का विध्वंस किया गया था। एक अन्य हिन्दू संगठन ‘नारायणी सेना’ ने घोषणा की है कि अवैध शाही ईदगाह मस्जिद को हटाने के लिए विश्राम घाट से लेकर श्रीकृष्ण जन्मस्थान तक मार्च निकाला जाएगा। जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल स्पष्ट कह चुके हैं कि किसी को भी शांति भंग करने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

वहीं CRPF के महानिदेशक ने कहा है कि इबादतगाह के परिसर में संदग्ध गतिविधियाँ संचालित हो रही हैं। उन्होंने कहा कि संदिग्ध लोग सुरक्षा व्यवस्था को देख रहे हैं और कानून-व्यवस्था बिगड़ने के आसार हैं। कुछ लोगों की गिरफ़्तारी हुई है और इलाके में धारा-144 लगा दी गई है। 6 दिसंबर को शाही ईदगाह मस्जिद को ‘पवित्र करने’ की बातें भी की जा रही हैं। 24 नवंबर, 2021 को CRPF महानिदेशक ने केंद्र सरकार को भेजी रिपोर्ट में बताया है कि मथुरा में स्थिति सही नहीं है और कुछ संदेहास्पद गतिविधियाँ देखी गई हैं।

पाक सेना प्रमुख ने अफगानों की मदद के लिए समन्वय प्रयासों के महत्व पर जोर दिया

Omicron: केंद्र पर बरसे केजरीवाल, कहा- इंटरनेशनल फ्लाइट्स बैन करने में देरी क्यों ?

पूरे देश में लागू होगी NRC ? सरकार ने संसद में दिया दो टूक जवाब

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -