पटना लाया गया रामचंद्र पासवान का पार्थिव शरीर, राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कार

पटना लाया गया रामचंद्र पासवान का पार्थिव शरीर, राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कार

पटना: मोदी सरकार में मंत्री रामविलास पासवान के छोटे भाई व समस्तीपुर लोकसभा सीट से सांसद रामचंद्र पासवान का रविवार को देहांत हो गया है. उनका अंतिम संस्कार आज पटना के दीघा घाट पर किया जाएगा. वहीं बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने रामचंद्र पासवान का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किए जाने का ऐलान किया है. 

आज सुबह 11 बजे से 3 बजे तक पटना में लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) दफ्तर में अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा और शाम 4 बजे पटना में दाह संस्कार किया जाएगा. उल्लेखनीय है कि रामचंद्र पासवान को 10 जुलाई को दिल का दौरा पड़ा था. जिसके बाद निरंतर उनका उपचार चल रहा था. उन्हें उपचार हेतु राम मनोहर लोहिया अस्पताल दिल्ली में भर्ती किया गया था. किन्तु उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई थी. वहीं, रविवार दोपहर को उन्होंने अस्पताल में ही अंतिम सांस ली.

रामचंद्र पासवान ने 1999 में पहली दफा जेडीयू की टिकट पर रोसड़ा से सदन पहुंचे थे. वहीं, दूसरी बार 2004 में रामचंद्र पासवान लोजपा के टिकट पर रोसड़ा से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की.  2014 में रामचंद्र पासवान समस्तीपुर से लोजपा के टिकट पर चुनाव लड़े और सांसद बने. 2019 में भी वो लगातार दूसरी बार समस्तीपुर से सांसद निर्वाचित हुए. बीते 12 जुलाई को अचानक उन्हें सीने में दर्द की शिकायत हुई, जिसके बाद उन्हें आरएमएल में भर्ती कराया गया था, जहाँ उनका रविवार को निधन हो गया.

राहुल गाँधी ने दिया इस्तीफा, अब पुणे का ये इंजिनियर बनना चाहता है कांग्रेस का 'सरदार'

शिवसेना ने लगाई सीएम कुमारस्वामी की क्लास, कर्नाटक के नाटक को लेकर कही ये बात

केरल में एनडीए सहयोगी ने किया यह बड़ा दावा