राजद सांसद मनोज झा का पीके पर तीखा प्रहार, कहा - वे लालू के साथ नहीं कर सकेंगे बहस

राजद सांसद मनोज झा का पीके पर तीखा प्रहार, कहा - वे लालू के साथ नहीं कर सकेंगे बहस

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रिमो लालू यादव की किताब में दावा किया गया है कि नीतीश कुमार ने महागठबंधन में वापसी के लिए सौदेबाज़ी की कोशिश की थी. जिसके लिए प्रशांत किशोर प्रस्ताव लेकर आए थे. इन दावों के खुलासे के बाद बिहार में सियासत काफी तेज हो गई है. वहीं, प्रशांत किशोर ने चुनौती दी है कि वे किसी भी प्लेटफॉर्म पर लालू यादव से बात करने को राजी हैं, जिससे सबको पता चल जाएगा की उन लोगों के बीच क्या बात हुई थी. किसने किसको क्या पेशकश की थी.

प्रशांत किशोर ने ट्विट करते हुए कहा है कि 'जो भ्रष्टाचार का आरोप झेल रहे हैं, वे सच का रखवाला बनने का प्रयास कर रहे हैं. लालू यादव जी जब चाहें,  मेरे साथ प्रेस के सामने बैठ जाएं, सबको पता चल जाएगा कि मेरे और उनके मध्य क्या चर्चा हुई और किसने किसको क्या पेशकश दी है.'  प्रशांत किशोर की चुनौती के बाद राजद राज्यसभा सांसद और पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने कहा है कि प्रशांत किशोर चुनाव मैनेजमेंट के लिए मशहूर हैं, अभी उनकी परिपक्वता इतनी नहीं है कि वे सियासी व्याकरण बदलने वाले लालू यादव के सामने बैठकर बहस कर पाएं.

मनोज झा ने कहा है कि प्रशांत किशोर स्वयं यह बात नहीं कह रहे हैं बल्कि उन्हें बुलवाया जा रहा है. जिसके बारे में राजद अच्छी तरह से जानती है. यह स्क्रिप्ट उन्हें किसने दी है. मनोज झा ने आरोप लगाया है कि प्रशांत किशोर को इस तरह के स्क्रिप्ट देने वाले चुनाव प्रचार के दौरान कम भीड़ से निराश हैं, जिस वजह से प्रशांत किशोर से इस तरह के ट्वीट करवाए जा रहे हैं.

खबरें और भी:-

राबड़ी को प्रशांत किशोर का मुंहतोड़ जवाब, कहा- मेरे सामने बैठ जाएं मीडिया के सामने फिर...

मायावती की वोटरों से अपील, कहा- बजरंग बलि और अली में विवाद पैदा करने वालों से रहें सावधान

आप नेता भगवंत मान ने पंजाब की जनता को लिखा पत्र, कहा- मैंने हमेशा के लिए शराब छोड़ दी है....