रामगोपाल के छलके आंसू, कहा: पार्टी से निकाला जाना असंवैधानिक

लखनऊ : समाजवादी पार्टी से निकाले गए सदस्य रामगोपाल यादव ने आज समाजवादी पार्टी को लेकर कुछ बातें कहीं। उन्होंने कहा कि वे समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्य हैं। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि पार्टी में अब उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार चयन करने पर मनमानी की जा रही है। रामगोपाल यादव अपनी बात रखते हुए बेहद भावुक हो गए।

'उन्होंने कहा कि टिकट वितरण में मनानी की जा रही है। कई नेताओं को पार्टी से निकाला गया है, पार्टी से नेताओं को निकाला जाना एक तरह से असंवैधानिक है। रामगोपाल यादव अपनी बात कहते हुए रोने लगे। वे बेहद भावुक हो गए और इस दौरान उन्होंने कहा कि उन्हें बहुत परेशानी हुई है। उनका कहना था कि उन्हें सत्ता का लालच नहीं है और न ही वे किसी बड़ी आकांक्षा में हैं। वे काफी भावुक हो गए थे और उन्होंने कहा कि सपा में मुझ पर आरोप लगाया और कहा गया कि मैंने भ्रष्टाचार किया। मगर मैंने कोई भ्रष्टाचार नहीं किया है।

रामगोपाल यादव ने राज्य के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का समर्थन करते हुए कहा कि यह चुनाव मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चेहरे पर लड़ा जाए। उन्होंने टिप्पणी करते हुए कहा है कि यदि विभिन्न बातों से पार्टी को कोई नुकसान नहीं हुआ है तो फिर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को इस बात को स्वीकार करना चाहिए।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -