धूमधाम के साथ निकाली गई बन्दर की शवयात्रा, वैदिक रीति-रिवाज़ से हुआ अंतिम संस्कार

जयपुर: राजस्थान के धौलपुर जिले में मंगलवार को एक बंदर की मौत होने के बाद लोगों ने धूमधाम के साथ उसकी शवयात्रा निकाली और वैदिक परम्परा के मुताबिक, बंदर का अंतिम संस्कार किया. घटना बाड़ी कस्बे के घंटाघर के समीप की है. आज यहां एक बंदर की मौत हो गई. बता दें कि बंदर को हनुमान जी का प्रतिरूप माना जाता है और कल मंगलवार भी था. ऐसे में पशु-पक्षी प्रेमी रामकुमार चौधरी और स्थानीय लोगों ने बंदर का अंतिम संस्कार वैदिक परम्पराओं के अनुसार करने का फैसला लिया.

मृत बंदर को नहला कर नए वस्त्र पहनाए गए. इसके बाद उसके शव को एक ठेले में रखकर गाजे-बाजे के साथ शवयात्रा निकाली गई. शवयात्रा कस्बे से होती हुई मुक्तिधाम पर पहुंची और विधि विधान के साथ मृत बंदर को दफ़न किया गया. लोगों ने मौके पर हनुमानजी की आरती गाकर बंदर की आत्मा की शांति हेतु कामना की. बता दें कि बाड़ी कस्बे के घंटाघर के पास मंगलवार को एक बंदर, कुत्तों के हमले में गंभीर घायल जो गया था. 

पशु-पक्षी प्रेमी रामकुमार चौधरी और अन्य लोगों ने पशु चिकित्सक मनमोहन पचौरी को मौके पर बुलाकर जख्मी बंदर का इलाज कराया. इलाज के दौरान बंदर की मौत हो गई. उसके बाद लोगों ने बंदर की गाजे बाजे के साथ शवयात्रा निकाल कर विधि विधान से मृत बंदर का अंतिम संस्कार किया.

चंद्रबाबू नायडू ने केंद्रीय बलों से सुरक्षा की मांग की

दो दिन की शांति के बाद फिर भड़के पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आज का भाव

भारत में बढ़ी सोने की मांग के कारण गिरी बचत दर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -