रोहिंग्या से मिलने के बाद प्रियंका चोपड़ा मुश्किल में

बीजेपी नेता विनय कटियार ने फिल्म अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा को यूएन एंबेसडर के तौर पर रोहिंग्या शरणार्थियों से बांग्लादेश में मिलने जाने पर भारत छोड़ने को कहा है. रोहिंग्या शरणार्थियों पर कटियार ने कहा कि वे न सिर्फ दूसरों की जिंदगी छीन लेते हैं, बल्कि दूसरे लोगों का मांस भी खाते हैं. एक दिन भी खराब किए बिना उन्हें यहां नहीं रहने देना चाहिए. उन्हें इस देश से बाहर भगा देना चाहिए.

उन्होंने कहा, 'प्रियंका चोपड़ा को वहां नहीं जाना चाहिए था, ये उनका निजी फैसला हो सकता है. लेकिन ये सही नहीं है, जिन लोगों को रोहिंग्याओं से सहानुभूति है, उन्हें इस देश में रहने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए.' कटियार ने कहा कि रोहिंग्याओं ने बहुत सारे हिंदुओं को मारा है, इसलिए उनका जीना इस देश के लिए खतरनाक है. प्रियंका ने यूनिसेफ की वैश्विक सद्भावना दूत के तौर पर बांग्लादेश में रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए बनाए शिविरों का दौरा किया था. सोमवार को प्रियंका ने अपनी एक तस्वीर ट्वीट कर दौरे की जानकारी दी. उन्होंने लिखा- 'मैं यूनिसेफ फील्ड विजिट पर रोहिंग्या शरणार्थी शिविरों के दौरे पर हूं. मेरे अनुभवों को जानने लिए मुझे इंस्टाग्राम पर फॉलो करें. बच्चे बेघर हो गए हैं, दुनिया को ख्याल रखने की जरूरत है. हमें ख्याल रखना चाहिए.'

एमनेस्टी इंटरनेशनल ने हाल ही में अपनी एक जांच के बाद जारी रिपोर्ट में कहा है कि म्यांमार में पिछले साल अगस्त में रोहिंग्या मुस्लिम चरमपंथियों ने करीब सौ हिंदुओं को हमले में मार दिया था. बीबीसी ने एमनेस्टी की रिपोर्ट के आधार पर लिखा है कि अराकन रोहिंग्या सैल्वेशन आर्मी (अरसा) नाम के संगठन ने एक या दो समूहों में किए गए कत्लेआम में 99 हिन्दुओं की जान ले ली. हालांकि, अरसा ने आरोपों से इनकार किया था.

 

रोहिंग्या शिविर में प्रियंका ने बच्चे को उठाकर दिया दुलार

प्रियंका चोपड़ा दोबारा हुई ट्रोल, युनिसेफ के कार्यक्रम में जाना पड़ा महंगा

म्यामांर रोहिंग्या के आरोपों की जांच कराए-संयुक्त राष्ट्र

रोहिंग्या मुस्लिम को बारिश से खतरा- संयुक्त राष्ट्र

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -